Advertisement

टेस्ट क्रिकेट के लंच और टी ब्रेक में आखिर क्या खाते हैं खिलाड़ी! आपको पता है?

9:26 am 16 Aug, 2018

Advertisement

आपने लोगों के मुंह से ये तो सुना ही होगा, ‘भूखे पेट भजन न होत गोपाला’। अब तक कोई भूखे पेट भगवान का भजन नहीं कर सकता तो क्रिकेट कैसे खेल सकता है। जी हां, 5 दिनों तक चलने वाले टेस्ट मैच के दौरान जाहिर है मैच पर खिलाड़ियों को भूख लगती होगी। उनके लिए लंच और टी ब्रेक का इंतज़ाम होता है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि इस दौरान वो आखिर खाते क्या हैं?

 

 

खेल के दौरान खिलाड़ी पूरी तरह से फिट और स्वस्थ रहें इस बात का खास ख्याल रखा जाता है। यहां तक कि उनके खान का भी खास ध्यान रखा जाता है और नॉनवेजीटेरियन और वेजीटेरियन दोनों खिलाड़ियों के लिए खाने की अलग व्यवस्था होती है।

टेस्ट मैच के दौरान खिलाडियों को लंच ब्रेक 30 ओवर बाद दिया जाता है। लंच के बाद भी 30 ओवर खेलने के बाद उन्हें टी ब्रेक मिलता है। खेल के दौरान खिलाड़ियों का जोश और उत्साह बना रहे इस बात का खास ध्यान रखा जाता है। इसलिए उनका डायट पहले से ही बना होता है।

 

 

दोपहर का खाना

 


Advertisement
दिन के समय धूप की वजह से खिलाड़ियों को ज़्यादा थकावट होती है इसलिए उनके खाने में ऐसी चीज़ें शामिल की जाती है जिससे उन्हें एनर्जी मिले। वेजीटेरियन खिलाड़ियों के लिए हरी सब्ज़ियां, आलू और दाल परोसा जाता है और नॉनवेज खाने वालों के लिए चिकन और फिश के व्यंजनों की व्यवस्था रहती है। दोपहर के खाने के साथ आइसक्रीम भी रखी जाती है।

 

 

वैसे खिलाड़ियों के ऊपर ये बंदिश नहीं होती है कि वो मेन्यू में शामिल चीज़ें ही खाएं, वो अपनी पसंद की दूसरी चीज़ें भी खा सकते हैं। जो खिलाड़ी लंच के बाद खेलने जाने वाले हैं उन्हें प्रोटीन से भरपूर चीज़ें खिलाई जाती है। उनकी डायट में ऐसी चीज़ें शामिल होती है जिसमें फैट कम और कार्बोहाइड्रेट ज़्यादा होता है।

 

 

टी टाइम

 

लंच के बाद खिलाड़ी 2 घंटे खेलते हैं फिर उन्हें टी ब्रेक मिलता है। इस दौरान वो ग्राउंड से बाहर जाकर चाय-कॉफी और हल्का नाश्ता कर सकते हैं। खिलाड़ियों की खाने की चीज़ें प्रोफेशनल शेफ बनाता है। यहां तक कि कुछ खिलाड़ी तो अपना अलग से शेफ भी रखते हैं।

 

Advertisement


  • Advertisement