Advertisement

यह पटना का अस्पताल है, बेड पर मरीज लेटे हैं और नीचे पानी में मछलियां तैर रही हैं

author image
1:13 pm 31 Jul, 2018

Advertisement

इस बात पर लंबे समय से चर्चा होती रही है कि हमारे देश के शहरों की व्यवस्था में आमूल-चूल परिवर्तन की जरूरत है। कहा जाता है कि शहरों पर जनसंख्या का अत्यधिक दबाव है इनकी आधारभूत संरचनाएं चरमरा रही हैं। इन तमाम चिन्ताओं का नजारा बिहार की राजधानी पटना में देखने को मिल रहा है। पटना शहर में दो दिन बारिश क्या हुई, यहां की कॉलनियों में ही नहीं अस्पताल में भी पानी भर गया है।

 

यह नजारा पटना के दूसरे बड़े अस्‍पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल का है।

 

 

आईसीयू भी अछूते नहीं हैं।

 

 

अस्पताल में के तमाम वार्ड्स में बेड पर मरीज लेटे हैं और नीचे पानी में मछलियां तैर रही हैं।

 


Advertisement
 

हालात कुछ ऐसे बन गए हैं अस्पताल में मरीज, उनके परिजन और चिकित्सक जैसे बंदी बन गए हैं।

 

 

फिलहाल मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि प्रशासन मरीजों को अन्यत्र शिफ्ट करने की कोशिश में लगा है। अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि यहां की जमीन नीची होने की वजह से अस्पताल में पानी आया है।

 

 

पटना शहर के अन्य इलाकों में भी लोग जलजमाव की वजह से परेशान हैं।

 

 

ऐसा नहीं है कि जल-जमाव से सिर्फ आम जनता ही परेशान है, बल्कि वीआईपी भी इस जल-जमाव से परेशान हैं। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आवास में भी पानी भर गया है।

Advertisement


  • Advertisement