सहवाग ने कहा- इस खिलाड़ी को टीम इंडिया में दो जगह, किसी भी गेंदबाजी आक्रमण की उड़ाकर रख देगा धज्जियां

author image
7:02 pm 29 Jun, 2018

‘ब्लू ब्रिगेड’ ने अपने तीन महीने लंबे आयरलैंड और इंग्लैंड दौरे की शुरुआत आयरलैंड से पहले टी-20 में 76 रनों की जीत से की। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी की और निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 208 रन बनाए। रोहित शर्मा (97) और शिखर धवन (74) ने अर्द्धशतकीय पारी खेली। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी आयरलैंड की टीम का कोई भी बल्‍लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका। लिहाजा आयरलैंड की टीम 9 विकेट खोकर 132 रन पर ही सिमट गई। भारत के लिए कुलदीप यादव ने चार और युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए।

 

 

अब टीम इंडिया आयरलैंड के खिलाफ अपना दूसरा और अंतिम टी 20 मैच आज खेलने जा रहा है। जहां कप्तान कोहली पहले ही टीम के मध्यक्रम में प्रयोग किए जाने की बात कह चुके हैं। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि किन खिलाड़ियों को अन्तिम 11 में जगह मिलती है।

 

कप्तान विराट कोहली ने पहले टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद कहा थाः

 

“हम मध्यक्रम में काफी प्रयोग करने जा रहे हैं। हम हर किसी को मैच में खिलाना चाहते हैं और उन्हें अपने कौशल को दिखाने का मौका देना चाहते हैं क्योंकि कई खिलाड़ी दौरे पर जाते हैं और उन्हें खेलने का मौका नहीं मिलता।”

 

उधर, टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने एक खिलाड़ी को मध्यक्रम में शामिल करने पर जोर दिया है। यह खिलाड़ी भले ही पिछले मैच में नहीं खेला हो, लेकिन इसके खेल ने सबको प्रभावित किया है।




 

 

सहवाग ने कहा है कि केएल राहुल को मौका जरूर मिलना चाहिए। बता दें कि केएल राहुल ने आईपीएल 2018 में बेहतरीन प्रदर्शन किया और इसके बाद से राष्ट्रीय टीम में उन्हें मौका देने की जोरदार मांग उठी है।

 

 

उन्होंने कहा कि टीम इंडिया की रोहित और शिखर की सलामी जोड़ी के साथ कोई छेड़छाड़ करने की जरूरत नहीं है। वहीं तीसरे नंबर पर केएल राहुल को उतारना चाहिए। सहवाग ने कहाः

 

“टीम इंडिया को अपनी ओपनिंग जोड़ी में बदलाव नहीं करना चाहिए, मगर तीसरे नंबर पर राहुल को मौका देना चाहिए। उन्हें दिनेश कार्तिक की जगह मौका मिलना चाहिए। चौथे नंबर पर विराट कोहली और एमएस धोनी को उतरना चाहिए। राहुल को मौका इसलिए मिलना चाहिए क्योंकि वह बल्लेबाजी में गहराई लाएंगे।”

 

 

बता दें कि आयरलैंड के खिलाफ पहले टी-20 इंटरनेशनल में न तो राहुल को मौका मिला और न ही दिनेश कार्तिक को। टीम इंडिया ने बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना पर भरोसा जताया, जिन्होंने 10 रन बनाए। बहरहाल, सहवाग ने राहुल पर अधिक भरोसा जताया है क्योंकि उन्हें लगता है कि इस युवा बल्लेबाज में काफी प्रतिभा है और वह किसी भी गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाने की क्षमता रखता है।