पूरी तरह कपड़ों में ढकी इस रिपोर्टर को कट्टरपंथियों ने बताया नग्न, घबराई महिला ने छोड़ा देश

6:18 pm 29 Jun, 2018

दुनियाभर में हर कहीं ‘हया’ और ‘बेहयाई’ को अलग नजरिए से देखा जाता है। कुछ देशों में लोगों का नग्न घूमना वहां की संस्कृति को दर्शाता है, तो वहीं कुछ ऐसे देश भी है, जहां सिर से पैर तक काला लबादा ओढ़ना पड़ता है। अरब के ऐसे बहुत से देश हैं जो अब आर्थिक विकास के नाम पर महिलों को सशक्त बनाने का दम भर रहे हैं। कई बार इन देशों से ऐसी खबरें आ जाती हैं, जिसे सुनकर लगता है कि महिलाओं की आदाजी का सपना अभी काफी दूर है।

 

 

बीते दिनों सऊदी अरब सरकार ने देश में एक ऐसी घोषणा की, जिससे वहां की महिलाओं में खुशी की लहर दौड़ गई। दशकों पहले महिलाओं के गाड़ी चलाने पर लगा प्रतिबंध आखिरकार बीते रविवार को हटा लिया गया। प्रतिबंध के हटने के बाद देशभर में हर कहीं महिलाएं उत्साहित नजर आईं। इस दौरान, महिलाओं की खुशी को जाहिर करती एक महिला टीवी रिपोर्टर वहां की रूढ़िवादी मानसिकता का शिकार हो गईं।

 

 

इन दिनों सऊदी अरब की टीवी रिपोर्टर शिरीन अल-रिफाई वहां के लोगों के निशाने पर हैं। इस महिला प्रस्तुतकर्ता  पर अश्लील कपड़े पहनकर टीवी रिपोर्टिंग करने का आरोप लग रहा है।

 




 

दरअसल, दुबई स्थित अल आन टीवी की रिपोर्टर शिरीन अल-रिफाई एक विडियो में ढीला हिजाब (हैडस्कार्फ) पहनकर रिपोर्टिंग करती नजर आईं थीं। इस दौरान कैमरे के सामने उनका गाउन थोड़ा खुल गया था, जिससे उनका ट्राउजर नजर आ गया। इसके बाद उन्हें सऊदी अरब के लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। सोशल मीडिया पर उनका ये विडियो वायरल होते ही लोग उन्हें ट्रोल करने लगे। ढीले हिजाब और गाउन पहनी इस महिला को कई कट्टरपंथियों ने नग्न तक कह डाला।

 

 

उधर, सऊदी प्रशासन ने भी कार्रवाई करते हुए शिरीन के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं। शिरीन पर आरोप है कि उन्होंने देश के निर्धारित पहनावे के नियमों का उल्लंघन करते हुए टीवी रिपोर्टिंग की। वहीं, शिरीन ने उन पर लग रहे आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि उन्होंने जो कपड़े पहने थे वो किसी भी तरह से अश्लील नहीं थे।

 

 

बताया जा रहा है कि विवाद को बढ़ता देख शिरीन अल-रिफाई देश छोड़कर चली गईं हैं।