Advertisement

इन 5 अभिनेताओं को जितनी शोहरत मिली है ये उससे कहीं अधिक के हकदार हैं

7:10 pm 19 Dec, 2017

Advertisement

बॉलीवुड में बिना किसी गॉडफादर के सफलता पाना लोहे के चने चबाने जितना ही मुश्किल काम हैं। बावजूद इसके कई ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने अपने अभिनय के दम पर अलग पहचान तो ज़रूर बनाई हैं, लेकिन जब बात लाइमलाइट और शोहरत की आती है तो ये असल अभिनेता स्टार किड्स की चमक के आगे फीके पड़ जाते हैं। तभी तो फिल्म में इनकी एक्टिंग की तो लोग खूब तारीफ करते हैं, लेकिन बिना किसी बड़े स्टार के यदि इनकी फिल्म आ जाए, भले ही वो कितनी भी अच्छी हो तो लोगों की जेब से टिकट के पैसे नहीं निकलते। यह एक कड़वी सच्चाई है। भले ही कोई इसे माने या न मानें। चलिए आज हम आपको मिलवाते हैं बॉलीवुड के ऐसे 5 अभिनेताओं से जिन्हें शोहरत तो काफी मिली है, लेकिन ये उससे कहीं अधिक के हकदार हैं।

1. मनीष चौधरी

 

अधिकतर फिल्म में मनीष अमीर व्यक्ति के रोल में नज़र आते हैं। उनके चेहरे पर बेहद अमीर बिज़नेसमैन की चमक दिखती है। मनीष ने कई फिल्मों में बेहतरीन किरदार निभाएं हैं।  मिकी वायरस में एसीपी सिद्धांत चौहान, बैंड बाजा बारात में सिद्धवानी, रॉकेट सिंह में सुनील पूरी का किरदार, नूर में शेखर, जन्नत 2 फिल्म में मंगल सिंह तोमर जैसे किरदार से उन्हें एक अलग पहचान मिली है। उनकी कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर भले ही फ्लॉप रही हों, लेकिन उनकी एक्टिंग हमेशा ज़बर्दस्त रही है।

2. राजेश शर्मा

 

लुधियाना में जन्में राजेश नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के भूतपूर्व छात्र हैं।  राजेश ज़्यादातर फिल्मों में निगेटिव किरदार में ही नज़र आए हैं। उनके डायलॉग बोलने का स्टाइल गजब है। राजेश की कुछ बेहतरीन फिल्में हैं- खोसला का घोसला, इश्किया, नो वन किल्ड जेसिका, डर्टी पिक्चर, लव शव ते चिकेन खुराना, स्पेशल 26, घनचक्कर, बीए पास, तनु वेड्स मनु रिटर्न्स, एमएस धोनी, बेग़म जान और टॉयलेट एक प्रेम कथा।

3. ब्रिजेन्द्र काला

 


Advertisement
ब्रिजेन्द्र 17 सालों तक थिएटर आर्टिस्ट के रूप में काम कर चुके हैं। नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के लिए उन्होंने एप्लिकेशन दिया था, लेकिन जब तक उनके घर पर इंटरव्यू की सूचना पहुंची, इसका बैच फुल हो चुका था। 1992 में मुंबई आने से पहले काला स्थानीय थिएटर ग्रुप के साथ जुड़े हुए थे। मुंबई आने के बाद उन्होंने अचला अशर के अधीन स्क्रीनराइटिंग की। फिर एक्टिंग में किस्मत आज़माई। कुछ फिल्मों में उन्होंने बेहतरीन एक्टिंग की है जैसे- हासिल, जब वी मेट, फंस गया रे ओबामा, पान सिंह तोमर, आंखों देखी, गुड्डु रंगीला, मिस टनकपुर हाज़िर हो आदि प्रमुख हैं। हाल ही में वह वेब सीरिज में भी नज़र आए।

4. पंकज तिवारी

 

पंकज को अनुराग कश्यप की फिल्म गैंग्स ऑप वासेपुर से लोकप्रियता हासिल हुई। इस फिल्म में उन्होंने सुल्तान कुरैशी की भूमिका निभाई थी। बहुत कम लोग जानते होंगे कि पहले इस रोल के लिए अनुराग कश्यप ने पंकज को रिजेक्ट कर दिया था, लेकिन कास्टिंग डायरेक्टर के कहने पर उन्हें ये रोल दिया गया और नतीजा सबके सामने था। पंकज भी नेशनल स्कूल ऑफ ड्राम के छात्र रह चुके हैं। अपहरण, शौर्य, चिल्लर पार्टी, अग्निपथ, फुकरे, फुकरे रिटर्न्स, मांझी-द माउंटेनमैन, मसान, नील बटे सन्नाटा, अनारकली ऑप आरा, न्यूटन, बरेली की बर्फी जैसी फिल्मों में उन्होंने बेहतरीन अभिनय किया है।

5. संजय मिश्रा

 

संजय मिश्रा किसी पहचान के मोहताज नहीं रह गए। अपने बेहतरीन कॉमिक अंदाज़ से दर्शकों को गुदगुदाने वाले संजय की गिनती बेहतरीन अभिनेताओं में होती है। सालों पहले आने वाले टीवी सीरियल ऑफिस-ऑफिस में पान खाने वाले शुक्ला जी के रोल में उन्होंने लोगों का दिल जीत लिया था। फिल्मों में अपने फनी रोल्स से दर्शकों को हंसाने वाले संजय ने मसान, न्यूटन, बादशाहो, जॉली एलएलबी, मिस टनकपुर हाजिर हो, दम लगाके हईशा, फंस गया रे ओबामा जैसी कई फिल्में की हैं।

बॉलीवुड में आज भी जितनी लाइमलाइट स्टार किड को मिलती है, उनती किसी नॉन फिल्मी बैकग्राउड से आए कलाकर को नहीं मिलती, वरना फिल्म रिलीज से पहले ही श्रीदेवी की बेटी जाह्न्वी और सैफ की बेटी सारा अली खान इतनी पॉप्युलर नहीं हो जातीं।

Advertisement


  • Advertisement