Advertisement

खतरे में पाकिस्तान का अस्तित्व, लीलने को तैयार है आतंकवाद का भस्मासुर

author image
11:39 am 28 Mar, 2016

Advertisement

आतंकवाद को राजकीय नीति के रूप में चलाने वाले पाकिस्तान का अस्तित्व खतरे में दिखाई पड़ रहा है। दुनिया के खतरनाक देशों में शुमार इस देश को आतंकवाद का भस्मासुर लीलने के लिए तैयार है।

पंजाब प्रान्त की राजधानी लाहौर में आत्मघाती हमले में कम से कम 70 लोगों के मारे जाने की खबर है। इस हमले में 300 से अधिक घायल हुए हैं। ईस्टर के उत्सव के दौरान एक भीड-भाड़ वाले पार्क में आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर खुद को उड़ा लिया।

मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक यह एक आत्मघाती हमला था। आत्मघाती हमलवार ने अपने बेल्ट से विस्फोटक बांध रखा था। फॉरेंसिक सूत्रों का कहना आत्मघाती हमलावर ने 10 किलोग्राम विस्फोटक बेल्ट पहन रखी थी। इलाके में सेना तैनात कर दी गई है।

माना जा रहा है कि हमलावर पाकिस्तानी तालिबान का सदस्य था, जिसे वहां की सरकार द्वारा संरक्षण मिलता रहा है। इस संगठन ने इससे पहले भी यहां हुए कई हमलों की जिम्मेदारी ली थी।

आज हालात ये हैं कि पाकिस्तान के बड़े-बड़े शहर आतंकवादी हमलों का निशाना बन चुके हैं और एक राष्ट्र के रूप में इसका अस्तित्व खतरे में है। अब तक पाकिस्तान की सरकार को लगता रहा है कि पड़ोसी देशों में आंतकवाद फैलाकर अपनी राजनीतिक महत्ता साबित की जा सकती है, लेकिन अब यह दांव उल्टा पड़ रहा है।

पेशावर से लेकर कराची और लाहौर में हो रहे आतंकवादी हमलों को इसी कडी के रूप में देखा जाना चाहिए। पाकिस्तान में आतंकवादियों की समानान्तर सरकार चल रही है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की निंदा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाहौर आत्मघाती हमले की निन्दा की है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कियाः ‘लाहौर में विस्फोट के बारे में सुना है। मैं दृढ़ता से इसकी निंदा करता हूं। मृतक के साथ घायलों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं।’

बताया गया है कि लाहौर के सभी अस्पतालों में आपातकाल लागू कर दिया गया है।

Advertisement


  • Advertisement