Advertisement

एक बार फिर शाहिद अफरीदी ने लिया संन्यास, 2006 से अब तक ले चुके हैं इतनी बार संन्यास

author image
4:02 pm 6 Jun, 2018

Advertisement

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के बेहद लोकप्रिय क्रिकेटर बूम-बूम शाहिद अफरीदी ने क्रिकेट में अपने प्रदर्शन से नाम तो कमाया ही है। लेकिन इन सब के बीच अपने संन्यास लेने के ऐलान करने और फिर उससे पलट जाने में भी शाहिद अफरीदी माहिर हैं। एक खिलाड़ी अपने कार्यकाल में एक बार रिटायरमेंट लेता है, लेकिन शाहिद अफरीदी इस मामले में बहुत आगे हैं। शाहिद ने कितनी बार क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया है, ये शायद ही आपको याद होगा। उनका संन्यास लेने और फिर उससे पलट जाने का ये रिकॉर्ड ऐसा है, जो केवल वो ही तोड़ सकते हैं।

 

क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं साल 1996 में महज 17 साल की उम्र में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत करने वाले शाहिद अफरीदी अब तक कितने संन्यास ले चुके हैं ?

 

 

अफरीदी के संन्यास लेने के इतिहास को देखकर तो ऐसा ही लगता है मानो उनके लिए संन्यास कोई मजाक बनकर रह गया है। संन्यास लेते हैं और फिर से वापस मैदान पर आ जाते हैं।

 

‘सुबह का भुला अगर शाम को घर लोट आए तो उसे भूला नहीं कहते’, लगता है मानों शाहिद अफरीदी ने इस कहावत को अपनी जिन्दगी का हिस्सा ही बना लिया हो।

 

 

अब उन्होंने एक बार फिर से संन्यास का ऐलान किया है। अभी हाल ही में लंदन के लॉर्ड्स मैदान पर वेस्टइंडीज और वर्ल्ड इलेवन के बीच क्रिकेट रिलीफ टी-20 मैच खेला गया। अफरीदी ने इस मैच में वर्ल्ड इलेवन की कप्तानी की। कहा तो यही जा रहा है कि यह अफरीदी का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच रहा। लेकिन कब शाहिद अपना फैसला बदल दें इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता।

 

अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेलने के लिए जब शाहिद अफरीदी मैदान पर आए, तो उन्हें टीम ने गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया।

 

 

चलिए आपको बताते हैं कि शाहिद अफरीदी ने कब-कब क्रिकेट को अलविदा कहा है और अपने फैसले को बदलकर दोबारा मैदान पर लौटे हैं।

 

Shahid Afridi Retirement (शाहिद अफरीदी का संन्यास)

 

2006 में टेस्ट मैचों से संन्यास लिया। दो हफ्ते के भीतर ही अपना ये फैसला वापस भी ले लिया। फिर आखिरकार 2010 में टेस्ट को हमेशा के लिए अलविदा कह ही दिया।

 

 

2011 में खेल के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान किया। 5 महीने बाद ये फैसला भी बदल लिया। इसके बाद 2015 में वनडे क्रिकेट से संन्यास ले लिया।

 

 

फिर 2017 में  टी-20 क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया, लेकिन 15 महीने बाद एक मैच खेलने के लिए मैदान पर वापसी की। फिर 2018 में टी-20 से आखिरकार संन्यास ले ही लिया।

 

इस तरह से शाहिद अफरीदी कुल मिलाकर 6 बार अन्तर्राष्ट्रीय करियर से संन्यास लेने का ऐलान कर चुके हैं। अब कोई खिलाड़ी इतनी बार संन्यास लेगा तो लोग मजाक नहीं बनाएंगे तो क्या करेंगे।


Advertisement
 

उनके संन्यास को लेकर मुकर जाने की ‘अदा’ पर इतने चुटकुले बन चुके हैं कि पूछो मत।

 

Advertisement


  • Advertisement