17वीं मंजिल इमारत से कूदने जा रही थी स्कूली छात्रा, प्रिंसिपल ने बचाई जान

author image
5:18 pm 14 Sep, 2017

दुनियाभर में अलग-अलग वजहों से आत्महत्या के मामले बड़े हैं। बच्चों के भी खुदखुशी करने के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं। स्कूली बच्चे अपनी पढाई को लेकर डिप्रेशन, टेंशन का शिकार हो जाते हैं, जो उनमें आत्महत्या करने की प्रवृत्ति को कई गुना बड़ा देती हैं।

ऐसा ही एक मामला सामने आया चीन से। चीन के Guizhou प्रान्त में स्थित एक स्कूल की बिल्डिंग से छात्रा ने अपनी जान देने की कोशिश की। छात्रा 17 मंजिला स्कूली इमारत से कूदकर अपनी जान देने जा रही थी।

इस बात का पता लगने पर स्कूल के प्रिंसिपल सहित कई लोग स्कूल की छत पर पहुंचे और लड़की को मनाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं मानी। लड़की ने किसी को भी उसके पास आने से मना कर दिया था। तब प्रिंसिपल ने उसे अपनी बातों में उलझाया। उसकी ओर पानी की बोतल बढ़ाई। इस बहाने प्रिंसिपल ने लड़की को पीछे से खींच लिया। अगर प्रिंसिपल ने सही वक्त पर अपनी सुझबुझ नहीं दिखाई होती तो एक बड़ा हादसा हो सकता था।

शंघाई मीडिया के अनुसार, लड़की गंभीर अवसाद की समस्या से जूझ रही है।

आपको बता दे कि इसी तरह से एक लड़की ने ताइवान के स्कूल की छत से कूद गई थी, उसे बचाया नहीं जा सका था। बच्चों के आत्महत्या करने के पीछे जो सबसे मुख्य करक है वो है उनपर बढ़ता पढाई का दवाब, उनके घरवालों की अपेक्षाएं। माता-पिता होने के नाते बच्चों से उनकी अपेक्षाएं स्वाभाविक हैं, लेकिन अपनी अपेक्षाओं को उनपर थोपना सही नहीं है। उनके व्यवहार को समझे। उनके दोस्त बने।

यहां देखें इस घटना का विडियो: