सिर्फ मुगलसराय ही नहीं, इन जगहों के नाम भी बदल गए फिर भी सबकुछ पहले जैसा है

5:45 pm 11 Jun, 2018

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आते ही युद्ध स्तर पर मुगलसराय रेलवे स्टेशन के नाम को बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन रखने की कवायद शुरु हो गई थी। किसी भी शहर या गांव का नाम बदलने के लिए राज्य सरकार को केंद्र सरकार की अनुमति लेनी पड़ती है, लिहाजा बीते साल उत्तर प्रदेश सरकार ने इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार के पास भेजा। इस दौरान योगी सरकार पर ये आरोप भी लगे कि अपने राजनीतिक फायदे के लिए नाम में ऐसा बदलाव किया जा रहा है। हालांकि, तमाम विरोधों के बाद भी नाम बदल दिया गया। मुगलसराय जंक्शन का नाम अब पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन हो गया है।

हालांकि, देखा जाए तो स्टेशन या शहर के नाम में बदलाव का ये कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी देश के अलग-अलग शहरों में कई जगहों के नाम बदलने की कवायद चलती रही है। देखते हैं कि इस फेहरिस्त में किन-किन जगहों के नाम शामिल हैं।

 

औरंगजेब रोड

दिल्ली के सांसद महेश गिरी ने औरंगजेब को एक क्रूर शासक बताकर दिल्ली की सड़क का नाम औरंगजेब रोड से बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड रखने का प्रस्ताव दिया था। इसके लिए उन्हें शिवाजी साहस सम्मान भी मिला था।

 

अकबर रोड

कुछ अज्ञात लोगों ने दिल्ली में महाराणा प्रताप जयंती के दिन अकबर रोड पर महाराणा प्रताप रोड का पोस्टर चिपका दिया था।

 

दादर स्टेशन

महाराष्ट्र में बीते कुछ समय से इस स्टेशन के नाम को बदलने की मांग हो रही थी। अंबेडकर जयंती वाले दिन कुछ अज्ञात लोगों ने दादर स्टेशन का नाम बदलकर डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर टर्मिनल का पोस्टर चिपका दिया था।

 

 

डलहौजी रोड




सन 1848 से 1856 तक भारत के गवर्नर रहे लॉर्ड डलहौजी के नाम से प्रख्यात दिल्ली की एक सड़क का नाम बदलकर दारा शिकोह रोड कर दिया गया था।

 

उर्दू बाजार

गोरखपुर के उर्दू बाजार का नाम अब हिंदी बाजार रख दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बाजार की कुछ पुरानी दुकानों पर अब भी उर्दू बाजार लिखा हुआ है।

 

 

माया बाजार

गोरखपुर के माया बाजार को पहले मियां बाजार कहा जाता था। 1998 में सांसद बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने इस जगह का नाम बदल दिया। बताया जाता है कि इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में कई बदलाव किए थे।

 

इलाहाबाद रेलवे स्टेशन

बाताया जा रहा है कि इलाहाबाद रेलवे स्टेशन के नाम को बदलकर प्रयाग राज रेलवे स्टेशन किया जा सकता है। इस पर अभी आधिकारिक घोषणा होनी बाकी है।

 

 



Discussions
Popular on the Web