Advertisement

युवाओं को ड्रग्स के चुंगल से बचाने के लिए मशहूर मॉडल ने करियर को कहा बाय-बाय

6:38 pm 20 Sep, 2017

Advertisement

आपने गांव छोड़कर करियर बनाने के इरादे से शहर का रुख करते तो बहुत से लोगों को देखा होगा। शायद आप भी उनमें से एक होंगे। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे मॉडल के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने अपने करियर की बुलंदियों पर पहुंचने के बाद अचानक गांव जाने का फैसला किया। हालांकि, उसने ऐसा खुद के लिए नहीं, बल्कि अपने गांव के लोगों की भलाई के लिए किया।

हम बात कर रहे हैं मशहूर मॉडल इंदर बावेजा की, जो कभी रेमंड के मॉडल के रूप में जाने जाते थे।

इंदर बावेजा मॉडलिंग की दुनिया का एक जाना-माना नाम है। उन्होंने कई विज्ञापनों के साथ ही पंजाबी फिल्मों में भी काम किया है, लेकिन अब वह अपना मॉडलिंग करियर छोड़कर गांव की सादगी भरी ज़िंदगी जी रहे हैं। दरअसल, बावेजा अपने गांव के युवाओं को नशे की गिरफ्त से छुड़ाना चाहते हैं।


Advertisement
पंजाब के गांवों में ड्रग्स एक बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही है। पिछले साल आई फिल्म उड़ता पंजाब में इसी समस्या को दिखाया गया था। गांव के युवा आसानी से ड्रग्स की लत का शिकार हो जाते हैं। बाजवा जब मुंबई में अपने करियर की ऊंचाइयों पर थे तभी उन्हें पता चला कि उनके कज़िन भाई की मौत ड्रग्स की वजह से हो गई है। इस घटना ने उन्हें अंदर तक हिला दिया। उसके बाद उन्होंने गांव लौटने का फैसला कर लिया।

इंदर बावेजा के गांव की कबड्डी टीम काफी मज़बूत हुआ करती थी, लेकिन युवाओं के ड्रग्स का शिकार होने का कारण वो टीम धीरे-धीरे कमज़ोर हो गई। इसे बावेजा ने दोबारा मज़बूत करने का प्रण लिया है। अब वह सुबह उठकर कबड्डी खिलाड़ियों के साथ प्रैक्टिस करते हैं, दोपहर में मां के काम में हाथ बंटाते हैं और शाम को फिर से फिज़िकल ट्रेनिंग में जुट जाते हैं।

बावेजा का कहना है कि ड्रग्स की गंभीर समस्या पर सिर्फ बातें ही होती है, इसे खत्म करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया जाता।

 

Advertisement


  • Advertisement