Advertisement

मालिनी अवस्थी ने मंदसौर रेप कांड पर बॉलीवुड को लताड़ा, कहा- कहां गए कठुआ कांड पर चीखने वाले

author image
7:22 pm 1 Jul, 2018

Advertisement

मध्य प्रदेश के मंदसौर में आठ साल की बच्ची के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ पूरा देश आक्रोश में है। 26 जून को आरोपियों ने पहले स्कूल के बाहर से नाबालिग बच्ची का अपहरण किया और फिर उसके साथ जघन्य अपराध कर उसे मरने के लिए झाड़ियों में फेंक दिया।

पूरे देश में आरोपियों को मृत्युदंड देने की मांग जोरों पर हैं। मंदसौर में लोग इस घटना के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं और आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में जांच के लिए 15 सदस्यीय टीम बनाई गई है। वहीं, बच्ची अब भी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

 

 

इस मामले पर विख्यात लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने एक ऐसा ट्वीट कर डाला, जिससे बवाल मचा हुआ है। मालिनी ने दुष्कर्म जैसे गंभीर मामलों पर समाज में धर्म के आधार पर दोहरे मापदंड को लेकर तीखे हमले किए। उन्होंने कठुआ गैंगरेप और मंदसौर में अंतर करने वालों पर सीधा हमला बोला।

 

 

दरअसल, उन्होंने कठुआ गैंगरेप और मंदसौर रेप केस में तुलना करते हुए 29 जून की रात एक ट्वीट किया था। उन्होंने बॉलीवुड और मीडिया के कुछ लोगों पर रेप की घटनाओं को धर्म के चश्मे से देखने का आरोप लगाया । उन्होंने अपने ट्वीट में लिखाः

 

“कठुआ पर शर्म आई और मंदसौर पर जुबां पर ताले! आक्रोश में भेदभाव! बॉलीवुड में अब न कोई तख्ती लटका रहा, न विदेशी अखबारों और मीडिया में भारत को बदनाम करता कोई लेख लिख रहा, न घंटों विलाप करने वाले एंकर अब व्यथित दिख रहे! बच्चियों में भी भेदभाव का दोहरा मापदंड सिर्फ सेक्युलर कर सकते हैं।”

 

 

मालिनी का ये ट्वीट कुछ लोगों को रास नहीं आया। उन्होंने मालिनी को ट्रोल करना शुरू कर दिया। हालांकि, बाद में उन्होंने इसे डिलीट भी कर दिया, लेकिन फिर से इसका स्क्रीन शॉट लेकर शेयर किया और कहा कि वो अपने शब्दों पर अब भी कायम हैं।

 

 

बता दें कठुआ रेप कांड के दौरान जम्मू कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ मंदिर के भीतर सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। उस वक्त बॉलीवुड के साथ-साथ टीवी इंडस्ट्री ने इस घटना पर अपना विरोध दर्ज किया था। बॉलीवुड ने कठुआ गैंगरेप मामले पर #JusticeForOurChild अभियान चलाया था, जिसमें बॉलीवुड की कई जानी-मानी अभिनेत्रियों ने हाथ में बैनर लिए अपना विरोध जताया था।

 

 

उधर, मालिनी ने आजतक से अपनी बातचीत में अपने ट्वीट को लेकर सफाई दी। उन्होंने कहा कि वह रेप को धर्म के चश्मे से नहीं देख नहीं हैं, बल्कि कुछ ऐसे लोग हैं, जिनमें इस तरह की प्रवृत्ति है। उन्होंने कहाः

 

“मैं मंदसौर की घटना को धर्म के चश्मे से नहीं देख रही हूं। मैंने धर्म का नाम तक नहीं लिया है और मुझे इस बात से हैरानी हो रही है कि बेटियों के साथ अत्याचार को धर्म से जोड़कर देखा जा रहा है।”

 

 

आगे मालिनी ने कहा कि जो लोग कठुआ कांड पर हल्ला मचा रहे थे, वो इस घटना पर चुप्पी साधे हुए हैं। ये बात उन्हें आहत करती है।बॉलीवुड कलाकारों पर सीधा हमला बोलते मालिनी अवस्थी ने कहा, ‘मैं पूछना चाहती हूं कि बॉलीवुड में बहुत कलाकार हैं, उनको कठुआ कांड को लेकर शर्म आई थी, लेकिन मंदसौर की घटना पर शर्म क्यों नहीं आई?’

उन्होंने कहा कि निर्भया का किस्सा हो या कठुआ का कांड हो या फिर कोई रेप की घटना, उसके दोषियों को फांसी की सजा मिलनी ही चाहिए।

Advertisement


  • Advertisement