यौन शक्ति बढ़ाने के लिए इन आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल करते थे राजा महाराजा

5:23 pm 11 Apr, 2018

भारत में राजा-महाराजाओं  को उनके शाही रहन-सहन और ऐशोआराम  के लिए जाना जाता रहा है। बड़े-बड़े महलों में रहने वाले इन राजाओं के शौक भी बड़े खास थे। इतिहास में ऐसी कई कहानियां हैं, जिनसे पता चलता है कि एक-एक राजा की कई रानियां हुआ करती थीं। जाहिर है कि राजा अपने सभी रानियों से शारीरिक संबंध बनाते रहे होंगे।

अब यह सवाल बेहद स्वाभाविक है कि भला राजा अपनी शारीरिक क्षमता को कैसे बनाए रखते थे।

 

 

इसका जवाब छिपा है आयुर्वेद की चमत्कारिक औषधियों में।

 

कहा जाता है कि राजा-महाराजा अपनी यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए कुछ खास जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया करते थे। अपनी ताकत को बरकरार रखने के लिए उन्होंने विशेष हकीम और वैद्य रखे थे जो आयुर्वेद के आधार पर उनके लिए खास जड़ी-बूटियों से दवाइयां बनाते थे। इन आयुर्वेदिक औषधियों के सेवन से उन्हें सालों-साल अपनी रानियों के साथ यौन संबंध बनाने में भरपूर मदद मिलती थी। आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ खास आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में, जिसे आज भी इस्तेमाल किया जा रहा है।

 


शिलाजीत

 

यौन समस्याओं के प्रमुख समाधान के रूप में शिलाजीत का इस्तेमाल आज भी किया जाता है। राजा-महाराजा इसका सेवन अपना पौरुष को बरकरार रखने के लिए किया करते थे। आज के दिनों में यौन से संबंधित समस्याओं के अलावा शिलाजीत कई प्रकार के रोगों के उपचार में भी सहायक है।

इसके इस्तेमाल करने की विधी बेहद सरल है। चावल के दाने के बराबर शिलाजीत को एक चम्मच गाय के घी या शहद के साथ मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से कामेच्छा तो बढ़ती ही है। साथ ही ही यह शरीर को कई अन्य प्रकार से लाभ प्रदान करता है।

 

 

अश्वगंधा

 




अश्वगंधा को यौन समस्याओं में सबसे प्रभावी और प्राचीन औषधि माना जाता है। आयुर्वेदिक औषधियों में अश्वगंधा का एक महत्वपूर्ण स्थान है। यह न केवल यौन क्षमता बढ़ाता है, बल्कि कई प्रकार की बीमारियों से भी आपका बचाव करता है। मानसिक और शारीरिक थकान दूर करने के के साथ-साथ शक्तिवर्धक दवाइयां बनाने के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है। इसमें ऐसे गुण मौजूद हैं जो शरीर की उर्जा को बढ़ाते हैं।

 

 

सफेद मूसली

 

सफेद मूसली एक चमत्कारिक गुणों वाली औषधि है। बहुत से बीमारियों के इलाज में सफेद मूसली को राम बाण माना जाता है। यह एक ऐसी शक्तिवर्धक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, जिसका इस्तेमाल राजा-महाराजा अपनी कामेच्छा को बढ़ाने के लिए किया करते थे। सफेद मूसली शरीर में नपुंसकता, लो स्पर्म काउंट जैसी  कई कमियों को पूरा करता है। साथ ही शारीरिक शक्ति और उर्जा बढ़ाने में भी सफेद मूसली लाभदायक है। इसकी जड़ों को पीसकर कई प्रकार से इसका सेवन किया जाता है।

 

 

शतावरी

 

शतावरी एक बेहतरीन औषधीय पौधा है। इसे पुरुष और महिलाएं अपनी कामेच्छा बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करते है। कई तरह की बीमारियों से बचने के लिए भी इसका सेवन किया जाता है। शतावरी कैंसर, नींद न आना, सिर दर्द जैसी कई बीमारियों में फायदेमंद है। इसके साथ ही यह दूषित पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में भी मदद करता है।

 

 

नोटः इन आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल किसी योग्य आयुर्वेदिक चिकित्सक के दिशा-निर्देश में करें।



Discussions
Popular on the Web