हाथ में तिरंगा लिए देश के 12 राज्यों के युवाओं का जत्था NIT श्रीनगर रवाना

author image
6:02 pm 9 Apr, 2016

NIT श्रीनगर में गैर-कश्मीरी छात्रों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में दिल्ली से करीब डेढ़ सौ छात्रों का एक जत्था तिरंगा लेकर श्रीनगर के लिए रवाना हो गया है।

बताया जा रहा है कि देश के 12 राज्यों से आए 150 छात्रों ने दिल्ली से श्रीनगर के लिए रवाना होते वक्त तिरंगा लहराया और ‘भारत माता की जय’ और ‘वन्दे मातरम’ के नारे लगाए। इस मार्च को ‘चलो NIT मार्च’ नाम दिया गया है।

इस मार्च में शामिल छात्रों का कहना है कि जो देशविरोधी गतिविधि NIT कैंपस में हुई है, वह उसका विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि यह जत्था उन छात्रों के समर्थन में निकला है जो गैर-कश्मीरी है और जिन्होंने वहां भारत माता की जय के नारे लगाए। साथ ही तिरंगा फहराकर विरोधियों से लोहा लिया।

दिल्ली से कूच करने वाले इन छात्रों की योजना है कि जब यह जत्था NIT श्रीनगर पहुंचे, तो वहां पर जो छात्र हैं उन्हें वह तिरंगा देंगे और वहां पहुंचकर तिरंगा भी फहराएंगे। इस मार्च की अगुवाई कर रहे तेजेंदर पाल सिंह ने कहाः




“जब NIT के छात्रों ने वहां राष्ट्रीय ध्वज फहराया, वहां भारत माता की जय, वन्दे मातरम गाया तो वो लोग जो कश्मीर को पाकिस्तान को देना चाहते थे, वो लोग जो लाल चौक पे पाकिस्तान का झंडा फहराते थे, उनके पेट में दर्द होने लगा। उनके दवाब में वहां गैर-कश्मीरी छात्रों पर कार्रवाई की गई। उन छात्रों से तिरंगा छीन लिया गया। तो हम ये कहना चाहते हैं कि उनको उनका तिरंगा वापस मिलना चाहिए। हम देशभर के युवाओं के साथ उनके पास तिरंगा लेकर जा रहे हैं, ताकि कश्मीर में तिरंगा लहराया जा सके। “

जिस तरह के तनावपूर्ण हालात NIT श्रीनगर में बने हुए हैं, उसके बाद इस कदम से वहां कानून और व्यवस्था की स्थिति और खराब हो सकती है, इस पर तेजेंदर का कहना हैः

“हमें किसी से बात करने की जरूरत नहीं है। जैसे हम देश के किसी भी भाग में तिरंगा लेकर जा सकते हैं, वैसे ही कश्मीर में भी हमें तिरंगा लेकर जाने के लिए किसी की परमिशन की जरूरत नहीं है।”



Discussions



Latest News