Advertisement

ये लोग जो आपको बोरियां उठाते दिख रहे हैं ये मजदूर नहीं बल्कि… किया ऐसा काम कि सब कर रहे तारीफ

author image
4:15 pm 20 Aug, 2018

Advertisement

केरल में मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने वहां के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। अब तक इस बाढ़ ने 400 से ज्यादा जिंदगियों को लील लिया है। वहीं लाखों लोग बेघर हो चुके हैं। लाखों की संख्या में लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है। जल-थल और वायुसेना सहित कोस्ट गार्ड और NDRF की टीमें दिन-रात बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। साथ ही देश भर से लोग केरलवासियों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। चाहे कोई बड़ा अधिकारी हो या छोटा कर्मचारी सब मदद में जुटे हुए हैं।

 

 

बचाव अभियान में लगी टीमों की कई तस्वीरें और विडियोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। लोग इनके निःस्वार्थ सेवा भाव और  समर्पण को सलाम कर रहे हैं और करें भी क्यों न! बचाव कार्य में जुटे ये लोग सच में किसी फरिश्ते से कम नहीं हैं।

 

 

वहीं, हर कोई केरल की मदद के लिए हाथ बढ़ा रहा है। क्या आम और क्या खास, हर व्यक्ति हर संभव मदद कर रहा है। ऐसे में नीचे की इन तस्वीरों में नजर आ रहे दो लोगों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

 

दरअसल, कंधे पर चावल की बोरियां ढो रहे ये दो शख्स आईएएस अफसर हैं। तस्वीरों में नजर आ रहे इन दोनों अफसरों का नाम जी. राजामनीकियम और एनएसके उमेश हैं। बता दें कि जी. राजामनिक्कियम  केरल के वायनाड जिला कलक्टर हैं और एनएसके उमेश वायनाड के सब-कलक्टर हैं।

 

 

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 14 अगस्त को ये दो अधिकारी बाढ़ के निरीक्षण के लिए केरल के वायनाड जिले पहुंचे थे। इस बीच, राहत शिविर में रात 9:30 बजे राहत सामग्री से भरी एक गाड़ी आई। सामान उतारने के लिए वहां ज्यादा लोग नहीं थे।

 

फिर इन अधिकारीयों ने सामान को ढ़ोने के लिए किसी आदमी का इंतजार करने के बजाय खुद बोरे को पीठ पर लाद कर राहत शिविर के अंदर ले गए।

 


Advertisement

 

लोग सोशल मीडिया पर इन आईएएस अफसरों की प्रशंसा कर रहे हैं। यकीनन ये अधिकारी प्रशंसा के पात्र हैं।

 

Advertisement


  • Advertisement