मुंबई के अस्पताल में चूहों ने कुतर दिए मरीज की आंख

7:24 pm 10 Oct, 2017

मुंबई के एक अस्पताल में चूहों की वजह से मरीज आतंकित हैं। यहां के ‘शताब्‍दी अस्‍पताल’ में चूहों ने एक बुजुर्ग महिला की आंख कुतर दी। वहीं, एक अन्य महिला मरीह के पैर भी चूहों ने कुतर दिए। यह अस्पताल बीएमसी के देखरेख में चलता है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि लकवे की शिकार 65 वर्षीय पीड़िता प्रमिला नेहरुलकर तड़के जब नींद में थीं, उस वक्त चूहों ने उन पर हमला कर दिया। प्रमिला के कराहने की वजह से वहीं उनकी बहू जाग गई तो देखा कि प्रमिला के आंख को चूहों ने कुतर डाला है। यह घटना कुछ दिन पहले हुई थी।

रिपोर्ट में प्रमिला के बेटे रुपेश के हवाले से बताया गया हैः

“पैरालिटिक अटैक के कारण मेरी मां बोल नहीं सकती थी, लेकिन जब चूहों द्वारा उनपर हमला हुआ तब किसी तरह रोने की आवाज उनके गले से निकली जिससे मेरी पत्‍नी की नींद खुली। इस घटना के 6 दिन हो गए और अभी तक अस्‍पताल की ओर से कीटनाशक तक का छिड़काव नहीं किया गया है। वे केवल चूहों को पकड़ने के लिए पिंजड़े ही लगा रहे हैं। जब मरीज सो रहे होते हैं तब उनपर चूहों की भागदौड़ जारी रहती है।”

अस्पताल में इसी तरह की एक अन्य घटना में 75 वर्षीया मरीज शांताबेन जाधव के पैर को चूहों ने कुतर डाला।

रिपोर्ट में अस्पताल सुपरिटेंडेंट डॉ. प्रदीप आंग्रे के हवाले कहा गया हैः

“पिछले 20 दिनों में हमने इन्‍हें पकड़ने के लिए पिंजड़ों की संख्‍या भी बढ़ा दी है। इस तरह के हमलों को रोकने के लिए जरूरी कार्रवाई की जा रही है।”

प्रदीप आंग्रे ने करीब तीन महीने पहले ही शताब्‍दी अस्‍पताल का चार्ज लिया है।