Advertisement

हिमा दास ने ऐसी दौड़ लगाई कि सब देखते रह गए, पीटी उषा और मिल्खा सिंह को पछाड़ा

10:50 am 14 Jul, 2018

Advertisement

यूं तो देश भर में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है, लेकिन कुछ ही लोग उस बुलंदी को छू पाते हैं जिस पर कि देश नाज कर सके। अचानक से हिमा दास सुर्ख़ियों में बनी तो सबका ध्यान उस ओर गया। हम जब बात खेल की करते हैं तो क्रिकेट से शुरू होकर क्रिकेट तक ही सिमट कर रह जाते हैं, लेकिन हिमा ने दौड़कर इतिहास रच दिया है!

 

 

हिमा दास ने आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता है। इस जीत के साथ ही उन्होंने कई रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं और नया कीर्तिमान बनाया है। 18 वर्षीय एथलीट हिमा दास ने फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में आयोजित आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ को महज 51.46 सेकंड में पूरा कर लिया।

कोलकाता पुलिस ने ये विडियो ट्वीट किया है!

 

 

गौरतलब है कि फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह और पीटी उषा भी ऐसा कमाल नहीं दिखा सके थे। अंतरराष्ट्रीय ट्रैक पर भारत की ये ऐतिहासिक जीत है। बता दें कि सेमीफाइनल में हिमा ने 52.10 सेकंड में दौड़ पूर्ण कर प्रथम स्थान हासिल किया था। हिमा के कोच निपोन दास की खुशियों का कोई अंत नहीं है।

 

कोच निपोन दास कहते हैंः

“एथलीट बनने के लिए हिमा घर से लगभग 140 किलोमीटर दूर आकर रहती थी। हमें गर्व है कि हिमा विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप की ट्रैक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बन गई हैं।”

 


Advertisement
 

जानकारी हो कि हिमा दास असम के नगांव जिले के धिंग गांव के एक साधारण किसान परिवार से ताल्लुक रखती हैं। वे परिवार के 6 बच्चों में सबसे छोटी हैं। शुरुआत में हिमा का झुकाव फुटबॉल की ओर था और वे लड़कों के साथ फुटबॉल खेला करती थी। महज 2 साल पहले ही उन्होंने रेसिंग ट्रैक पर अभ्यास करना शुरू किया था। कोच निपोन उसे अपने खर्च से अभ्यास करवाते और रखते थे।

हिमा दास को बधाई की झड़ी लग गई!

 

हमारी ओर से भी इस नई उड़न परी को हार्दिक बधाई!

Advertisement


  • Advertisement