विदेशी हिल स्टेशंस से भी ज्यादा खूबसूरत है उत्तराखंड का कनातल

6:09 pm 28 Jun, 2018

शहरों और महानगरों में रहने वाले लोग अक्सर छुट्टियों के लिए विदेशों का रुख करते हैं। वे इस बात से अनजान होते हैं कि भारत में ही ऐसे बहुत से खूबसूरत लोकेशन हैं, जहां की प्राकृतिक सुंदरता विदेशों से कई गुना अधिक है। पहाड़ों की तलहटियों में बसे बहुत से ऐसे हिल स्टेशंस हैं, जहां आप शहर की भीड़-भाड़ से दूर परिवार और दोस्तों के साथ कुछ खास पल बिता सकते हैं। पहाड़ों की ठंडी वादियों में बसी एक ऐसा ही जगह है कनातल।

 

 

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल जिले में मसूरी-चंबा हाईवे पर स्थित यह छोटी सी जगह उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। सदियों पहले अस्तित्व में आई कनातल झील के नाम पर इस गांव का नाम पड़ा।

हालांकि, अब यह झील पूरी तरह विलुप्त हो चुकी है। समुद्र की सतह से 8500 किलोमीटर की ऊंचाई पर बसे इस छोटे से शहर की खूबसूरती आपका मन मोह लेगी। इस जगह का शांत और सुरम्य वातावरण दुनियाभर से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता रहा है। शहर के शोर-शराबे से दूर परिवार के साथ सुकून के कुछ पल बिताने के लिए यह सबसे उपयुक्त जगह है।

 

 

सुरकंडा देवी मंदिर

शहरी चहल-पहल से दूर इस छोटी सी जगह पर छुट्टियां बिताने आप कभी भी जा सकते हैं। यहां का सुरकंडा देवी मंदिर काफी प्रसिद्ध है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, जब भगवान शिव हिंदू देवी सती के शरीर को कैलाश पर्वत लेकर जा रहे थे, उस वक्त इसी स्थान पर देवी का सिर गिरा था, जिस वजह से स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटकों के बीच भी ये मंदिर काफी लोकप्रिय है। इसके अतिरिक्त आप कनातल के समीप बने देश के सबसे उचें टिहरी बांध की भी सैर कर सकते हैं। भागीरथी नदी पर बना ये बांध आसपास के इलाकों को पानी उपलब्ध कराता है।

 

 

ट्रैकिंग व कैंपिंग

ट्रैकिंग व कैंपिंग के लिए भी ये जगह पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है। दुनिया भर से लोग यहां ट्रैकिंग और कैंपिंग का मजा लेने आते हैं। आप भी यहां अपने परिवार और दोस्तों के साथ कैंपिंग का लुत्फ उठा सकते हैं।




 

 

बहुत सी निजी कंपनियां यहां आपको कैंपिंग और ट्रैकिंग के आकर्षक ऑफर्स देतीं हैं। रोमांच से भरपूर ये ट्रैकिंग आपकी ट्रिप को और भी यादगार बना देगी। ट्रैकिंग के दौरान आप हरी-भरी घाटियों और बर्फीले पहाड़ों को देखने का आनंद  उठा सकते हैं।

 

 

रोप क्लाइम्बिंग

इसके अलावा बहुत से पर्यटक यहां रोप क्लाइम्बिंग का लुत्फ उठाने भी आते हैं। यहां किफायती खर्च में आप रोप क्लाइम्बिंग जैसे एडवेंचर का मजा उठा सकते हैं।

 

 

जंगल सफारी

अगर आप कनातल जा ही रहे हैं तो जंगल सफारी का को एन्जॉय करना नहीं भूलिएगा। इस जंगल में आपको बहुत से वन्य जीव देखने को मिल जाएंगे। रोमांच से भरपूर वाइल्ड-लाइफ को देखने का यहां अपना एक अलग ही मजा है।

 

 

कनातल जाने के कई विकल्प हैं। यहां हवाई, रेल और सड़क मार्ग से होते हुए पहुंचा जा सकता है। इसका सबसे नजदीकी हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन देहरादून है। दूेहरादून से आप राज्य परिवहन से कनातल पहुंच सकते हैं। कनातल और देहरादून के बीच 92 किलोमीटर का फासला है।