दुनिया की ये बड़ी घटनाएं कैसे बनीं थीं अखबारों की सुर्खियां, यहां देखिए

12:06 pm 18 May, 2018

बदलते समय के साथ सूचनाओं को पाने के लिए मोबाइल ऐप, टीवी और वेबसाइट जैसे विविध माध्यम उपलब्ध हो चुके हैं। आज आप किसी भी घटना की जानकारी बड़ी आसानी से  प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन पहले ऐसा नहीं था। खबरों की दुनिया में दिलचस्पी रखने वालों के लिए अखबारों को सबसे सटीक और प्रामाणिक स्रोत माना जाता था, जिसके जरिए देश- विदेश की तमाम खबरें प्राप्त की जाती थीं। बीते दौर में होने वाली बड़ी घटनाओं अखबारों की सुर्खियां कैसे बनी थी, आइए जानते हैं।

 

डॉ. अल्बर्ट आइंस्टीन का निधन

 

डॉ. अल्बर्ट आइंस्टीन एक महान वैज्ञानिक थे, जिनकी गिनती विश्व के सर्वश्रष्ठ वैज्ञानिकों में होती है। 18 अप्रैल 1955 को अल्बर्ट आइंस्टीन ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। इस खबर के आने के बाद वैज्ञानिकों के बीच एक शोक की लहर दौड़ गई थी।

 

प्रथम विश्व युद्ध का समापन

 

प्रथम विश्व युद्ध की शुरुआत 28 जुलाई 1914 को हुई। इस युद्ध ने न सिर्फ भारी तबाही मचाई, बल्कि दुनिया के नक्शे को ही बदल के रख दिया। जर्मनी की क्रूरता ने कई देशों को इस महायुद्ध में शामिल होने के लिए उकसाया था। लगभग 4 साल तक चले इस युद्ध  के समापन की आधिकारिक घोषणा  11 नवंबर 1918 को हो गई।

 

टाइटैनिक का डूबना

 

15 अप्रैल 1912 की मनहूस रात को टाइटैनिक के डूबने से उसपर सवार 1232 लोगों की जान चली गई थी । उस सदी में जहाज के डूबने से होने वाली ये सबसे बड़ी क्षति थी, जिसने इस खबर को ऐतिहासिक बना दिया।

 

पहला टेस्ट ट्यूब बेबी

 

वैसे तो दुनियाभर में टेस्ट ट्यूब बेबी पर शोध 1930 से ही होने लगे थे, लेकिन 25 जुलाई 1978 को पहले टेस्ट ट्यूब बेबी के जन्म के बाद इस खबर ने काफी सुर्खियों बटोरी थी।

 

चांद पर इंसान का पहला कदम

 




20 जुलाई 1969 के दिन पहली बार इंसान ने चांद पर खदम रखा था। अमेरिका के नील आर्मस्ट्रांग के चांद पर कदम रखने वाली इस खबर ने इस दिन को यादगार बना दिया।

 

भारत की आजादी

 

अंग्रेजी हुकूमत के समाप्त होने के बाद भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र राष्ट्र घोषित हो गया। इस दिन को भला कौन भुला सकता है।

 

सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु

 

‘तुम मुझे खून दो, मै तुम्हें आजादी दूंगा’ का नारा बुलंद करने वाले सुभाष चंद्र बोस की रहस्यमयी  मौत उस वक्त की सबसे बड़ी खबर थी। 18 अगस्त 1945 को आई इस खबर से देश शोक में डूब गया था।

 

एडोल्फ हिटलर की मौत

 

30 अप्रैल 1945 को एडोल्फ हिटलर की मौत की खबर चर्चा में रही। एडोल्फ हिटलर को 20वीं सदी के सबसे क्रूर और निर्दयी तानाशाहों में गिना जाता है।

 

महात्मा गांधी की मृत्यु

 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मृत्यु ने पूरी दुनिया को झकझोर के रख दिया था। 30 जनवरी 1948 की शाम को नई दिल्ली स्थित बिड़ला भवन में गोली मारकर महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई थी। ये उस वक्त की सबसे बड़ी खबरों में शामिल थी।

 

ओसामा बिन लादेन की मौत

 

दुनिया के सबसे बड़े आतंकी ओसामा बिन लादेन को 2 मई 2011 को अमेरिका ने मौत के घाट उतार दिया था। दुनियाभर में इस खबर ने सुर्खियां बटोरी थीं।

 



Discussions
Popular on the Web