Advertisement

इस लड़की ने बाघ से भिड़ने के बाद अस्पताल जाना नहीं समझा जरूरी, लेने लगी सेल्फी

4:10 pm 6 Apr, 2018

Advertisement

हर दिन सेल्फी का बढ़ता क्रेज युवाओं पर भारी पड़ता जा रहा है। सोशल मीडिया साइट्स पर सेल्फी को शेयर करने का क्रेज आज हर किसी के सिर चढ़कर बोल रहा है, जो कई बार घातक भी साबित होता है। खासकर युवाओं में सेल्फी लेने की दीवानगी इस कदर है कि वे सेल्फी लेना का मौका कहीं भी नही छोड़ते। आपने अक्सर ऐसी घटनाओं के बारे में सुना होगा जहां सेल्फी लेना लोगों को काफी महंगा पड़ जाता है। इंटरनेट पर कई ऐसी तस्वीरें वायरल  होती हैं, जिनमें लोग सेल्फी लेने के चलते कई बार हादसों का शिकार भी हो जाते हैं।

ताजा मामला महाराष्ट्र के नागपुर का है। यहां शेर से हुई भिड़ंत के बाद अपनी जान की परवाह न करते हुए एक लड़की ने सबसे पहले सेल्फी ली। आप भी सोच रहें होंगे कि भला इस लड़की ने ऐसा क्यों किया, तो चलिए आपको बताते हैं कि पूरा माजरा है क्या।

 

 

 

 

दरअसल, 29 मार्च की रात महाराष्ट्र के नागपुर जिले के एक छोटे से गांव की रहने वाली  रुपाली मेश्राम की भिड़ंत एक बाघ से हो गई। रुपाली का गांव जंगलों के नजदीक है। गांव में बाघों का घुस आना आम है। उस रात एक बाघ नें रुपाली की बकरियों पर हमला कर दिया। बकरियों को बचाने रुपाली खुद बाघ से जा भिड़ी,। इस बीच रुपाली की मां भी वहां पहुंची। दोनों ने जमकर बाघ का मुकाबला किया। साधारण से परिवार की दुबली-पतली इस लड़की के हौसलों के आगे आखिरकार बाघ पस्त पड़ गया।

 


Advertisement
 

कुछ देर चली इस भिड़ंत के बाद बाघ वहां से भाग गया। हालांकि, इस घटना की सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि घटना के बाद लहुलुहान इस लड़की ने अस्पताल जाना जरूरी नहीं समझा, बल्कि उसने सबसे पहले फोन से खुद की एक सेल्फी ली।

 

सेल्फी के लिए इस लड़की की दीवानगी  इस बात से जाहिर है कि उसे अपनी जान की नहीं, बल्कि सेल्फी की ज्यादा परवाह थी।

 

 

रुपाली का कहना है कि उसने सेल्फी को एक सबूत के तौर पर पेश करने के लिए लिया, ताकि लोग उसका यकीन कर सकें। अब सवाल यह है कि क्या अपनी जान को जोखिम में डालकर सेल्फी लेना जरूरी था?

 

मनोचिकित्सकों की माने तो सेल्फी लेने का ये क्रेज लोगों में मानसिक विकारों को जन्म दे रहा है, जिसे वो सेल्फीसाइड का नाम देते हैं। बता दें कि सेल्फी लेने के  दौरान अब तक दुनियाभर में कई मौतें हो चुकी हैं।

Advertisement


  • Advertisement