Advertisement

क्रिकेट के इतिहास का सबसे ‘बेवकुफाना शॉट’ देखकर आप लोट-पोट जाएंगे

6:05 pm 22 Nov, 2017

Advertisement

क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल तो है, लेकिन यह रिकॉर्ड्स का भी खेल है। अलग-अलग तरह के रिकॉर्ड्स बनते हैं। खेल के रिकॉर्ड्स तो बनते ही हैं, साथ ही बेवकूफियों के रिकॉर्ड्स बनते हैं। बल्लेबाजी से लेकर, गेन्दबाजी तक तथा फील्डिंग तक में कई बार खिलाड़ी ऐसी बेवकुफाना हरकत करते हैं कि दर्शक हंसते-हंसते लोटपोट हो जाते हैं।

imgci
पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद अपने बेवकूफी वाली हरकतों की वजह से जाने जाते रहे हैं।

मियांदाद की ऐतिहासक हरकत हर क्रिकेट प्रेमी को याद होगी।

 

क्या आपने यह मैच देखा था? यह क्रिकेट फील्ड पर बेवकूफी का एक शानदार नमूना है।

 

इनके साथ मैच है हमारा कल 😂😂😂😂😂

Posted by क्रिकेट मेरी जान on 3 ಜೂನ್ 2017

कुछ ऐसा ही वाकया श्रीलंका में खेले गए मैच में देखने को मिला है।

 


Advertisement

जी हां, कोलंबो में श्रीलंका के दो बड़े क्लब्स एमएएस युनिकेला और टीजे लंका के बीच मैच खेला जा रहा था। इस मैच में चमारा सिल्वा ने एक ऐसी वेवकुफाना शॉट खेला, जिसे अब क्रिकेट के इतिहास का सबसे बेवकूफी भरा शॉट कहा जा रहा है। सिल्वा अपने इस शॉट में कामयाब तो नहीं हो सके, लेकिन ट्रोल जरूर हो रहे हैं। उनके खेल से जुड़ा एक विडियो वायरल हो रहा है। इस विडियो में आप देख सकते हैं कि गेन्दबाज जैसे ही गेन्द फेंकने वाला होता है, उससे कुछ सेकेंड पहले चमारा सिल्वा अचानक से नया शॉट इजाद करने के लिए स्टंप्स के पीछे चले जाते हैं।

सिल्वा की कोशिश का मकसद यह था कि ऐसा करने से गेन्द को लेग साइड में पुल शॉट खेलने के लिए उन्हें सामान्य से बहुत ज्यादा समय और जगह मिल जाएगी और वह आसानी से गेंद को बाउंड्री के पार भेज सकेंगे। हालांकि, गेन्दबाज ने उनकी इस योजना को भांप लिया और वह क्लीन बोल्ड हो गए।

आप भी यह विडियो देख सकते हैं।

अब चमारा सिल्वा का मजाक उड़ाया जा रहा है। सिल्वा की हालत उस कहावत की तरह हो गई है, जिसमें कहा गया है कि चौबे जी चले थे छब्बे बनने, दूबे बनकर लौटे। एक नया शॉट इजाद करने के चक्कर में सिल्वा ने कुछ अधिक जोखिम ले लिया।

चमारा सिल्वा की जो हालत हुई है, उसे देखकर नहीं लगता है कि भविष्य में कोई भी बल्लेबाज इस तरह के शॉट खेलने की कोशिश करेगा।

चमारा सिल्वा पर सितम्बर के महीने में घरेलू प्रथम-श्रेणी मैच के दौरान खराब बर्ताव और खेल भावना के लिए दो साल का प्रतिबंध लग चुका है।

Advertisement


  • Advertisement