Advertisement

धारा 377 के फैसले पर ‘Durex’ का ट्वीट, ट्विटर पर बंध गए तारीफों के पुल

2:53 pm 7 Sep, 2018

Advertisement

क्या हम किसी को उसी तरह नहीं अपना सकते जैसा वो है? क्या किसी के व्यक्तित्व को बदला जा सकता है ? 24 साल तक इन सवालों पर चली लंबी बहस के बाद आखिरकार गुरुवार को देश की सर्वोच्च अदालत ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटा दिया। यानी अब दो  वयस्कों  के बीच आपसी सहमति से बनाए गए समलैंगिक संबंधों को अपराध नहीं माना जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से पहले तक आईपीसी की धारा 377 के तहत समलैंगिकता अपराध की श्रेणी में आता था।

मौके का फायदा उठाते हुए Durex बनाने वाली कंपनी ने सोशल मीडिया पर एक क्रिएटिव मीम शेयर कर दिया। इस क्रिएटिव  के जरिए कंपनी ने उच्च न्यायालय के फैसले का समर्थन करने के साथ ही अपनी ब्रांडिंग भी कर डाली। इन दिनों सोशल मीडिया पर Durex के इस क्रिएटिव मीम की काफी तारीफ हो रही है।

कंपनी ने मीम को शेयर करते हुए ट्वीट किया है।

 

 


Advertisement
 

कंपनी के इस क्रिएटिव पर अब तक कई लोग जवाबी ट्वीट कर चुके हैं। देखिए इस ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रियाएं।

 

समलैंगिकता की इस श्रेणी को LGBTQ (लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर और क्वीयर) के नाम से भी जाना जाता रहा है।

बता दें कि इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 के एक हिस्से को, जो सहमति से बने अप्राकृतिक यौन संबंध को अपराध मानता रहा है, तर्कहीन और मनमाना करार दिया।

Advertisement


  • Advertisement