Advertisement

भारत में क्रिकेट की दशा पर नाराज है यह दिग्गज, जमकर निकाली भड़ास

4:50 pm 22 Jun, 2018

Advertisement

क्रिकेट भारत में जिस प्रकार लोकप्रिय खेल है, उसी प्रकार लोगों की संवेदनाएं भी इससे जुड़ी हैं। इतने बड़े देश में शीर्ष खिलाड़ियों में जगह बनाना एक बहुत बड़ी बात होती है। ऐसे में खेल से लेकर फिजिकल फिटनेस तक कई परीक्षण होते हैं। उसके बाद ही राष्ट्रीय टीम की घोषणा की जाती है। लेकिन मामला है कि फंसता नजर आ रहा है!

क्रिकेट की दशा पर नाराजगी।

 

 

टीम चयन के मामले में ‘यो यो टेस्ट’ को लेकर पूर्व चयन पैनल प्रमुख संदीप पाटिल ने आपत्ति जताई है।

 

 

संदीप पाटिल ने स्पष्ट कहा हैः

“मैं टीम के फिटनेस के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन ये जो प्रक्रिया है वो टीम संतुलन को नष्ट कर रही है। इसका कई खिलाड़ियों के करियर पर बुरा असर पड़ता है। आखिर ये कैसे हो सकता है कि टीम में चुने जाने के बाद ‘यो यो टेस्ट’ में विफल होने पर एक खिलाड़ी को हटा दिया जाता है।”

 

 

क्रिकेट टीम फाइनल होने के बाद आख़िरी टेस्ट के रूप में ‘यो यो टेस्ट होता है और इसमें विफल रहे खिलाड़ी को बहार कर दिया जाता है। ऐसे ही वरिष्ठ तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और बल्लेबाज अंबाती रायुडू को यूनाइटेड किंगडम के आगामी दौरे के लिए टीम से हटा दिया गया था।


Advertisement
 

 

पाटिल का कहना है कि टी-20 क्रिकेट की सबसे कठिन प्रतियोगिता है और पूरे टूर्नामेंट (इंडियन प्रीमियर लीग) में खिलाड़ियों को कोई समस्या नहीं आई है और अब वे अचानक बाहर हैं। कोई भी खिलाड़ी सौ प्रतिशत फिट नहीं हो सकता है, लेकिन इस प्रकार संभावनाओं को समाप्त करना गलत है।

 

 

चूंकि शमी का व्यक्तिगत जीवन अशांतिपूर्ण है लिहाजा पाटिल ने संवेदनशील दृष्टिकोण अपनाने पर जोर दिया है। पाटिल ने कहा, उन्हें एक और मौका मिलना चाहिए।

 

 

अब देखना यह है कि बोर्ड इस पर सोचता है या अपने निर्णय पर कायम रहता है।

हालांकि, पाटिल अगर इस पर आपत्ति व्यक्त कर रहे हैं तो अवश्य ही ध्यान देने की जरूरत है।  वैसे ये पिछले कुछ समय से लगातार इस पर बातें करते नजर आ रहे हैं।

Advertisement


  • Advertisement