Advertisement

अगर आप करते हैं Truecaller सहित इन ऐप्स का इस्तेमाल तो हो जाएं सतर्क

7:15 pm 3 Dec, 2017

Advertisement

अगर आप भी यूसी न्यूज़, शेयर इट और ट्रूकॉलर जैसे ऐप्स यूज़ करते हैं तो ये खबर आपके लिए है। सरकार ने 42 ऐप्स की लिस्ट जारी की है, जिनके चीन से लिंक होने का शक है। इंटेलिजेंस एजेंसियों का कहना है कि एंड्रॉयड और आईओस के इन ऐप्स के ज़रिए चीन साइबर अटैक कर सकता है।

एजेंसियों के मुताबिक, कई एंड्रॉयड/आईओएल ऐप्स को चाइनीज डेवेलपर्स ने बनाया है और इन ऐप्स में चाइनीज लिंक हैं, जिसके ज़रिए स्पाईवेयर हो सकते हैं। इसी के चलते कई एप्लीकेशंस खुफिया बातचीत के लिहाज से सुरक्षित नहीं हैं।

 

इसी के मद्देनज़र सरकार ने बॉर्डर पर तैनात सैनिकों से ये ऐप्स तुंरत डिलीट करने को कहा है।

 

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इंटेलिजेंस ब्‍यूरो ने 24 नवंबर को बॉर्डर पर तैनात सेनाओं के लिए एक एडवाइजरी जारी की। इस एडवाइजरी के मुताबिक भारतीय सेना को अपने स्‍मार्टफोन से WeChat, Truecaller, Weibo, यूसी ब्राउजर और यूसी न्‍यूज समेत 40 ऐप को डिलीट करने की सलाह दी गई।

 

एजेंसियों ने अनइंस्टॉल किए किए जाने वाले ऐप्स की लंबी लिस्ट जारी की है, जिनमें शामिल हैं :


Advertisement
WEIBO, WECHAT, SHAREIT, TRUECALLER, UC BROWSER, NEWDOG, BEAUTYPLUS, VIVA VIDEO-QU VIDEO INC, PARALLEL SPACE, APUS BROWSER, PERFECT CORP, VIRUS CLEANER-HI SECURITY LAB, CM BROWSER, MI COMMUNITY, DU RECORDER, VAULT HIDE-NQ MOBILE SECURITY, YOUCAM MAKEUP, MISTORE, DU BATTERY SAVER, DU PRIVACY, 360 SECURITY, DU BROWSER, BAIDU MAP.

 

हालांकि, इस मसले पर कम्‍युनिकेशन ऐप Truecaller ने अपनी ओर से सफाई दी है। कंपनी ने कहा है-

 

“हम यह साफ करना चाहते हैं कि हम एक स्वीडन बेस्ड कंपनी हैं। हमें नहीं पता है कि हमारा नाम इस लिस्ट में क्यों शामिल किया गया है, हम इसकी जांच कर रहे हैं।”

 

कंपनी ने आगे कहा कि Truecaller कोई संदिग्‍ध ऐप नहीं है। हमारे सभी फीचर्स सुरक्षित हैं।

यदि इन ऐप्स का वाकई में चीन से कोई लिंक हुआ तो ये बेहद चिंता विषय का विषय है। अगली बार से बेहतर होगा कि आप भी अपनी बेहद पर्सनल बातें इन ऐप्स के ज़रिए किसी से शेयर न करें।

Advertisement


  • Advertisement