गंभीर रोगों के प्रति जागरूकता फैलाती ये 8 बॉलीवुड फिल्में हर किसी को देखनी चाहिए

12:42 pm 20 Jun, 2018

बॉलीवुड फिल्में वैसे तो डांस, रोमांस, एक्शन और ड्राम के लिए ही मशहूर हैं, लेकिन कई बॉलीवुड फिल्में गभीर विषयों पर भी बनी हैं, जिससे समाज में सकारात्मक संदेश जाता है। कुछ बॉलीवुड फिल्में बेहत गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं पर बनी हैं और इसके ज़रिए समाज में जागरूकता फैलाने की भी कोशिश की गई है। ऐसे में सभी को ये 8 बॉलीवुड फिल्में ज़रूर देखनी चाहिए।

 

1. हिचकी- टॉरेट सिंड्रोम

 

Bollywood films

 

रानी मुखर्जी की इसी साल आई फिल्म हिचकी टॉरेट सिंड्रोम की समस्या को दिखाती है। फिल्म में रानी मुखर्जी एक टीचर के रोल में हैं, जो टॉरेंट सिंड्रोम से पीड़ित है। इसकी वजह से उसे बार-बार हिचकी आती है। इसके कारण वो लोगों के बीच हंसी का पात्र बन जाती है। इस डिसऑर्डर का कोई इलाज नहीं है। असल ज़िंदगी में भी लोगों को इस समस्या के बारे में कम ही जानकारी है। फिल्म में इस बीमारी के प्रति जागरूकता फैलानी की कोशिश की गई है।

 

 

2. पा- प्रोजेरिया

 

Bollywood films paa

 

इस फिल्म के पहले लोगों ने शायद इस बीमारी का नाम भी नहीं सुना होगा। फिल्म में प्रोजेरिया से पीड़ित लड़के के रोल में अमिताभ ने शानदार अभिनय किया है। इस बीमारी की वजह से बच्चे का शरीर 70 साल के बूढ़े जैसा हो गया। पहली बार इस बीमारी पर कोई फिल्म बनी। पा बॉलीवुड की बेहतरीन फिल्मों में से एक है। इसमें इस बीमारी के लक्षण और उसकी वजह से अंत में लड़के की मौत को दिखाया गया है।

 

 

3. तारे जमीन पर- डिसलेक्सिया

 

Bollywood films taare zameen par 1

 

आमिर खान की सुपरहिट फिल्म तारे ज़मीन पर में दर्शील सफारी ने डिसलेक्सिया पीड़ित बच्चे का किरदार निभाया था। डिसलेक्सिया से पीड़ित बच्चे सामान्य बच्चों की तरह पढ़ाई नहीं कर पाते, वो सही तरह से उच्चारण भी नहीं कर पाते। फिल्म में दर्शिल सफारी ने बेहतरीन अभिनय किया था और ये फिल्म इस बीमारी के प्रति जागरूकता फैलाने का काम करती है। ये बताती है कि ऐसे बच्चों को माता-पिता के सहयोग की बहुत ज़रूरत होती है।

 

 

4. ऐ-दिल है मुश्किल- टर्मिनल कैंसर

 

Bollywood films aa dil hai mushkil

 

इस फिल्म में रणबीर कपूर खुद से उम्र में बड़ी ऐश्वर्या राय बच्चन से रोमांस करते दिखे। साथ ही फिल्म में अनुष्का शर्मा ने एक कैंसर पीड़ित लड़की का किरदार निभाकर सबको चौंका दिया था।

 




 

5. जीरो- बौनापन

 

Bollywood films zero

 

शाहरुख खान की ये चर्चित फिल्म इस साल के अंत तक रिलीज़ हो सकती है। फिल्म में शाहरुख ने बौने का किरदार निभाया है। बौना यानी ऐसा शख्स जिसकी लंबाई उम्र के अनुसार नहीं बढ़ती है। ऐसा अक्सर मेटाबॉलिक और हार्मोनल डिसॉऑर्डर की वजह से होता है। आपने अपने आसपास भी बहुत से लोग देखे होंगे जो अपनी उम्र के अनुसार लंबाई में बहुत छोटे होते हैं।

 

 

6. पीकू- कब्ज़ की बीमारी

 

Bollywood films Piku

 

दीपिका पादुकोण और अमिताभ बच्चन इस फिल्म में मुख्य भूमिका में थे और फिल्म में दोनों के ही अभिनय की बहुत तारीफ हुई थी। इसमें कब्ज़ की बीमारी और उससे होने वाली समस्या को दिखाया गया है।

 

 

7. माई नेम इज खान- आस्पेर्गर सिंड्रोम

 

Bollywood films my name is khan

 

इस फिल्म में शाहरुख खान आस्पेर्गर सिंड्रोम से पीड़ित रहते हैं जो ऑटिज़्म का ही एक रूप है। फिल्म में शाहरुख और काजोल की जोड़ी लंबे समय बाद दिखी और दोनों ने एक बार फिर से फिल्म को हिट करा दिया था।

 

 

8. गजनी- भूलने की बीमारी

 

Bollywood films ghajini 1

 

आमिर खान की सुपरहिट फिल्म गजनी शायद आपने देखी होगी, इसमें एक हादसे के बाद आमिर खान को भूलने की बीमारी हो जाती है। दरअसल, एंटेरोग्रेड अमनेसिया (भूलने की बीमारी) में इंसान की याददाशत पूरी तरह से चली जाती है। फिल्म में अपने किरदार में उतरने के लिए आमिर ने पोलोराइड फोटोग्राफ और परमानेंट टैटू की मदद ली थी।