दुनिया के सबसे बड़े विमान ने भरी पहली उड़ान; आम नहीं, यह है ‘फ्लाइंग बम’

author image
4:45 pm 19 Aug, 2016

दुनिया के सबसे बड़े विमान एयरलैंडर-10 ने आखिरकार अपनी पहली उड़ान भर ली है। एयरलैंडर-10 ने सैकड़ों लोगों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच सेंट्रल इंग्लैंड के कार्डिंग्टन में एक हवाई अड्डे से उड़ान भरी।

एयरलैंडर-10 कोई मामूली विमान नहीं है। इसे ‘फ्लाइंग बम’ का नाम दिया गया है। जानिए इसकी खासियतें:

यह विमान, वायुयान एवं हेलीकॉप्टर का मिलता-जुलता एक संयुक्त रूप है।

यह 44 मीटर चौड़ा, 26 मीटर ऊंचा और 92 मीटर लंबा है। यह विमान बड़े यात्री विमानों की तुलना में करीब 15 मीटर ज्यादा लंबा है।

544,311 किलोग्राम के वजनी इस विमान में छह 747 क्लास इंजन है।

एयरलैंडर 4,880 मीटर की ऊंचाई तक और 148 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है।

यह विमान 6124 किलोग्राम की सैटेलाइट को धरती से 2000 किमी तक ले जाने की क्षमता रखता है।

यह पहाडों पर, मैदानों में, बर्फ पर या पानी में कहीं भी उतर सकता है।

विमान को इस तरह बनाया गया है कि यह हवा से हल्की गैस हीलियम का उपयोग कर तीन सप्ताह तक हवा में रह सकता है।

विमान में 50 यात्रियों के बैठने की भी क्षमता है।

इसके निर्माता हाईब्रिड एयर व्हिकल (एचएवी) के अनुसार एयरलैंडर-10 को मूल रूप से अमेरिकी सेना के सतर्कता विमान के तौर पर विकसित किया गया है। फिलहाल इसका इस्तेमाल सेना का सामान इधर से उधर करने के लिए किया जाने वाला है, लेकिन आने वाले वक्त में इसके और उपयोग भी देखने को मिल सकते हैं।

देखिए एयरलैंडर-10 के उड़ान की विडियो:






Discussions



Latest News