दुनिया के ये 7 शहर अगले दस सालों में बेहद धनी होंगे, लंदन और न्यूयॉर्क छूटेंगे पीछे

author image
12:30 pm 30 Apr, 2016


न्यूयॉर्क, लंदन और हांग कांग को भूल जाइए। दुनिया के ये सात शहर अगले 10 सालों में सबसे धनी शहरों में शुमार होने जा रहे हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2025 तक धन और सुविधाओं के मामले में इन शहरों को बोलबाला होगा। इस रिपोर्ट को मैकेन्जी ने आर्थिक सर्वे के आधार पर जारी किया है।

1. दोहा, कतर

इस सूची में सबसे पहला नाम है कतर के शहर दोहा का। प्रति व्यक्ति आय के मामले में यह शहर बेहद आगे बढ़ रहा है। अरब के देशों में भले ही तेल की कीमतों को लेकर बबाल मच रहा है, लेकिन वर्ष 2022 तक यहां बड़े पैमाने पर निवेश किया जा रहा है।

माना जा रहा है कि वर्ष 2022 में यहां आयोजित होने वाला फुटबॉल विश्वकप इस शहर को नई ऊंचाईयों तक ले जाएगा।

2. बर्जेन, नार्वे

बर्जेन शहर नार्वे का दूसरा सबसे प्रतिष्ठित और घनी आबादी वाला शहर है। माना जाता है कि इस शहर से ही नार्वे की अर्थव्यवस्था संचालित होती है।

मैकेन्जी के विशेषज्ञ मानते हैं कि यह जल्द ही दुनिया के सबसे धनी शहरों की कतार में खड़ा दिखेगा। यह शहर ऊर्जा, शिपिंग और मरीन रिसर्च का केन्द्र है।

3. ट्रोन्डेम, नार्वे

नार्वे का एक अन्य शहर ट्रोन्डेम भी इस सूची में शामिल है। इस शहर को मोबाइल फोन उद्योग की जन्मस्थली भी कहा जाता है। 80 के दशक के दौर में इस शहर में ही जीएसएम स्टैन्डर्ड का आविष्कार किया गया था।

इस छोटे से शहर में 550 से अधिक स्टार्टअप हैं, जिनमें 10 हजार से अधिक लोग काम करते हैं।

4. ह्वासियोंग, दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया के शहर ह्वासियोंग का जलवा है। यह शहर राजधानी सियोल के दक्षिण में स्थित है। यहां ह्युन्डई, सैमसंग, किया और एलजी सरीखी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के मुख्यालय हैं।

यहां इन कंपनियों के वैश्विक रिसर्च केन्द्र भी हैं। यह शहर इन दिनों रियल स्टेट और रेजिडेन्शियल स्टेट में बड़े पैमाने पर निवेश कर रहा है।

turner

turner


5. असान, दक्षिण कोरिया

एक अन्य दक्षिण कोरियाई शहर असान के बारे में भी कहा जाता है कि यह शहर जल्दी ही धनी शहरों की सूची में ऊपरी पायदानों पर होगा।

यह शहर पूर्वी चीन के नजदीक है और यह वैश्विक शिपिंग केन्द्र भी है।

6. राइन रूर, जर्मनी

इस शहर को हाल ही में जर्मनी का सबसे प्रतिष्ठित और तेजी से बढ़ता हुआ शहर का दर्जा प्राप्त हुआ है। यह यूरोप का तीसरा सबसे बड़ा शहर बनने की तरफ अग्रसर है।

यूरोप में इस शहर से आगे की पायदानों पर सिर्फ पेरिस और लंदन हैं। फॉरचून 500 कंपनियों में 12 का मुख्यालय यहां है। यह सही मायने में जर्मनी का पावरहाउस है।

7. मकाउ, चीन

तेजी से बढ़ते हुए शहरों में मकाउ ने अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। वर्ष 2025 तक यह शहर दुनिया के 10 अमीर शहरों में शामिल हो जाएगा।

पिछले साल आई मंदी की मार से उबरा मकाउ एक बार फिर शिखर छूने को बेताब है। माना जा रहा है कि आने वाला समय मकाउ का होगा।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News