ये हैं दुनिया के 11 सबसे रहस्यमयी स्थान, जानकर चौंक जाएंगे आप भी

5:42 pm 2 May, 2016


हम बचपन से ही अपने माता-पिता, दोस्त और आस-पास के लोगों से कहानियां सुनते हुए बड़े हुए हैं। इनमें से अधिकतर डरावनी कहानियां हैं। हम में से बहुत लोगों ने इनके बारे में किताबों में और फिल्मों में पढ़ा और देखा है।

आज हम आपको दुनिया के 11 सबसे रहस्यमयी स्थानों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके रहस्य को अब तक नहीं सुलझाया जा सका है।

1. ईस्टर द्वीप

ईस्टर द्वीप पोलिनेशिया में एक दूरदराज ज्वालामुखी द्वीप है। यह मानव आकृतियों की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है। ये करीब 40 फुट लम्बे हैं और लगभग हज़ारों की संख्या में हैं, जिनमे इनका पूरा शरीर ज़मीन के अंदर इस प्रकार धसा हुआ है कि बस उनका इंसान-जैसा दिखने वाला चेहरा ही सतह पर दिखाई देता है।

आज तक इस रहस्य को सुलझाया नहीं जा सका है कि आखिर ये यहां पहुंचे कैसे, क्योंकि ये बहुत भारी हैं।

2. अंगकोर वाट

अंगकोर वाट कंबोडिया में स्थित एक मंदिर परिसर है, जिसकी गिनती दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक स्मारकों में होती हैं। यह मंदिर परिसर 162.6 हेक्टेयर भूमि में फैला हुआ है। इसकी खूबसूरती इसके भव्य शिखरों और बेहतरीन नक्काशी से बनती हैं।

इस मंदिर को वर्ष 1113 और 1150 ईसवी के बीच बनाया गया था। मंदिर के टावर को पौराणिक हिन्दू पर्वत माउंट मेरु पर प्रकाश डालने के लिए बनाया गया था। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। इसके निर्माण के करीब 100 साल बाद यह बौद्ध स्थल में परिवर्तित हो गया।

3. बरमूडा त्रिकोण

बरमूडा त्रिकोण, जिसे शैतानी त्रिकोण के नाम से भी जाना जाता हैं, उत्तर अटलांटिक महासागर के पश्चिमी हिस्से का एक क्षेत्र हैं।

कालान्तर में यहां बहुत से जहाज और विमान रहस्य्मय तरीके से गायब हो गए। बाद में उन्हें खोजा भी नहीं जा सका।

4. एरिया 51

एरिया 51 एक सैन्य अड्डा है। यह अमेरिका के वायुसेना का भी अड्डा है जो कि कैलिफोर्निया के नेवादा परीक्षण और प्रशिक्षण रेंज के अंतर्गत पड़ता है। यह जगह लॉस वेगास शहर से करीब 80 मील उत्तर-पश्चिम की तरफ स्थित है।

इसकी चर्चा इसलिए की जा रही है क्योंकि न्यू मेक्सिको में वर्ष 1947 में जो UFO रोसवैल में दुर्घटनावश गिर गया था, तो उसमें मौजूद एलियन और उनकी तकनीक को यहां गुप्त तरीके से लाया गया था। कहा जाता है कि यहां एलियन्स के संबंध में परीक्षण किए जाते हैं।

5. अटलांटिस का खोया हुआ शहर

बहुत लोग ऐसा मानते हैं कि अति प्राचीनकाल में एक आदर्शलोक था जो अब समुद्र की सतह के नीचे मौजूद है। यहां तक कि गूगल अर्थ में एक बार डेटा गड़बड़ी की वजह से ऐसा सुनने में आया था कि समुद्र के तल पर ग्रिड की तरह एक पैटर्न बना हुआ है।

बारीकी से जांच करने वाले कुछ विशेषज्ञों ने ऐसा अनुमान लगाया था कि ये शायद अटलांटिस के खोए हुए रास्ते हो सकते हैं।

6. तेओतिहुकन

तेओतिहुकन मैक्सिको राज्य का एक प्राचीन मेसो-अमेरिकन शहर है, जो मेक्सिको शहर से 30 मील उत्तर-पूर्वी दिशा की तरफ है। ऐसा कहा जाता है कि पिरामिड से भरी हुई यह जगह करीब 1400 वर्ष पूर्व रहस्यमय तरीके से ख़त्म हो गई थी कि आज कोई नहीं जानता कि उसको बनाने वाला कौन था और वे अपने घर को किस नाम से पुकारते थे।


‘अजटेक्स ‘ जिन्होंने बाद में इस जगह की तीर्थयात्रा की, ने इसे एक नया आधुनिक नाम दिया, जिसका अर्थ है – “वह जगह जहां से भगवान की शुरुआत हुई “। चाहे कुछ भी हो, इस शहर में मशहूर “मृतकों का मार्ग” और कुछ प्रमुख जटिल पिरामिड हैं।

7. गीज़ा का महान पिरामिड

गीज़ा का महान पिरामिड गीज़ा पिरामिड कॉम्प्लेक्स के तीन पिरामिड में से सबसे पुराना और बड़ा है। दुनिया के प्राचीन सात अजूबों में भी ये सबसे प्राचीन है और इकलौता ऐसा है, जो बिलकुल पहले जैसा है। खुफू का महान पिरामिड 2589 ई.पू. और 2504 ई.पू. के बीच बनाया गया था और इसकी ऊचाई करीब 481 फ़ीट हैं।

यह भी एक रहस्य है कि कैसे 2.5 टन के भारी पत्थरों से इसका निर्माण हुआ होगा।

8. लॉच नेस

यह स्कॉटिश पर्वतीय क्षेत्र में स्थित एक बड़ा, गहरा और ताजे पानी की झील है। इसे सबसे बड़ी स्कॉटिश झील कहा जाता है। यह 755 फ़ीट गहरी हैं और इसका क्षेत्रफल 21.8 वर्ग मील में फैला हुआ है।

वर्ष 1933 में छपे एक लेख में कहा गया कि इस झील में राक्षसों और बत्तखों के बीच लड़ाई हो गई। बाद में पता चला कि यह महज अफवाह थी।

9. स्टोनहेंज

स्टोनहेंज, विल्टशायर (इंग्लैंड) मे एक प्रागैतिहासिक स्मारक है। इस स्मारक की कहानी और उद्देश्य एक रहस्य है। ऐसा कहा जाता हैं कि कुछ किसान और चरवाहों ने इसे 5 हजार साल पहले बनाया था। बाद में करीब 700 सालों तक इसका निर्माण जारी रहा था।

हालांकि, यहां कोई लिखित अभिलेख नहीं है, जिससे इसके बारे में पता लगाया जा सके। यह एक-दूसरे से टकराते हुए पत्थरों का घेरा है।

10. नजका की लकीरें

अटलांटिस एक किंवदंती हो सकता है, पर नजका की रहस्मयी लकीरें शत-प्रतिशत असली हैं। दक्षिण पेरू में मौजूद नजका की लकीरे कोलंबस के पहले के समय से रेगिस्तान की रेत में खुदी हुई, जियोग्लिफ़ का समूह हैं। इसमें हुई नक्काशी में बन्दर, मकड़ी, पौधे और अन्य आकृतियां हैं। ये 500 ई.पू. का समय दर्शाते हैंं।

अजीब तो यह है कि कोई नहीं जानता कि क्यों प्रागैतिहासिक नजका संस्कृति को इस कलाकृति को बनाने के लिए इतनी मेहनत करनी पड़ी

11. कहोकिया

कहोकिया टीला पूर्व कोलंबियाई मूल अमेरिकी शहर में स्थित एक ऐतिहासिक स्थल है। यह पूरे 6 वर्ग मील तक फैला हुआ हैं और करीब 20 हजार लोगों का घर था। आधुनिक विकास के कारण इसका अधिकतर हिस्सा अब बदल चुका है. लेकिन पुरातत्त्ववेत्ताओ के मुताबिक कहोकया के लोग कैफीनयुक्त पेय पदार्थ पीते थे और “चुंकेय ” नामक खेल खेलते थे।

यह भी कहा जाता है कि शहर में हो सकता है कि लकड़ी से बना मंदिर हो और लकड़ी के स्टोनहेंज जैसी कोई संरचना हो।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News