तीसरे विश्वयुद्ध के मुहाने पर खड़ी है दुनिया, जानिए क्या हैं ताजा अपडेट

11:52 am 13 Oct, 2016


दुनिया तीसरे विश्वयुद्ध के मुहाने पर खड़ी दिखाई पड़ रही है। तेजी से बदल से घटनाक्रमों के बीच रूस ने अपने अधिकारियों, राजनयिकों और राजनीतिज्ञों को एक आदेश जारी कर कहा है कि वे जल्द से जल्द विदेशों में रह रहे अपने करीबियों-रिश्तेदारों को स्वदेश वापस ले आएं।

यह आदेश राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के फ्रान्स दौरा अचानक रद्द करने के बाद जारी किया गया है। पुतिन का यह दौरा फ्रान्स के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के उस बयान के बाद रद्द किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि क्रेमलिन सीरिया में युद्ध अपराधों में लिप्त है।

आरोप है कि रूस के सीरिया में सैन्य अभियान शुरू करने के बाद से लेकर अब तक 3800 सीरियाई नागरिक अपनी जान गंवा चुके हैं।

माना जा रहा है कि सीरिया में अमेरिका और रूस के बीच चल रही टक्कर तीसरे विश्वयुद्ध का कारण बन सकती है।

पश्चिम के देशों और रूस के बीच तनातनी के बीच पुतिन एडमिनिस्ट्रेशन ने पोलैन्ड के सटी सीमा पर परमाणु आयुध युक्त मिसाइलों की तैनाती कर दी है। इन मिसाइलों की जद में जर्मनी का बर्लिन शहर भी है।

इससे पहले पुतिन के एक करीबी मंत्री ने कहा था कि मास्को के 12 लाख लोगों को सुरक्षित रखने के लिए न्युक्लियर बंकर बना लिए गए हैं।


वहीं, दूसरी तरफ सोवियत संघ के अंतिम नेता मिखाइल गोर्बाच्येव ने भी कहा है कि रूस और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ने से दुनिया एक खतरनाक मोड़ पर पहुंच गई है।

इस बीच, रूस ने विश्वयुद्ध होने की स्थिति में क्यूबा, वियतनाम, निकारागुआ तथा वेनेजुएला में सैन्य बेस स्थापित करने के लिए इन देशों से बातचीत शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि ये देश अमेरिका के धुर-विरोधी हैं, इसलिए किसी भी युद्ध की स्थिति में रूस का साथ दे साथ दे सकते हैं।

हालांकि, क्यूबा के बारे में अब तक स्थिति साफ नहीं है।

हाल ही में क्यूबा ने अमेरिकी विरोध का अपना एजेन्डा छोड़ते हुए ओबामा प्रशासन के साथ अपने संबंध सुधारने की कवायद शुरू की थी।

Discussions