उरी में शहीद हुए जवानों को सलाम, नम आंखों से दी गई शहीदों को अंतिम विदाई

author image
6:34 pm 19 Sep, 2016


18 सितंबर की तारीख भारतीय इतिहास में एक काला दिन साबित हुई है। इस दिन हमने अपने देश के 18 वीर सपूतों को खो दिया।

उत्तरी कश्मीर के उरी शहर में 18 सितंबर सुबह भारी हथियारों से लैस आतंकियों ने एक बटालियन मुख्यालय पर हमला कर दिया, जिसमें 18 जवान शहीद हो गए और 19 अन्य घायल हुए हैं। जवाबी कार्रवाई में सैन्य बलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।

ये जवान सीना ताने सीमा की रक्षा में खड़े थे। पूरा देश इन शहीदों को नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है।


ये सभी जवान देश की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए। देश के हर नागरिक को इन वीर सपूतों पर नाज है।

सुबेदार करनैल सिंह : बिशना, जम्मू (जम्मू-कश्मीर)

हवलदार रवि पाल : सांबा, जम्मू (जम्मू-कश्मीर)

सिपाही उईके जनराव : अमरावती, महाराष्ट्र

नायक एसके विद्यार्थी : गया, बिहार

लांस नायक जी शंकर : सतारा, महाराष्ट्र

सिपाही हरिंदर यावद : गाजीपुर, यूपी

सिपाही टीएस सोमनाथ : नासिक, महाराष्ट्र

हवलदार अशोक कुमार : आरा, बिहार

सिपाही राजेश कुमार सिंह : जौनपुर, यूपी

सिपाही राकेश सिंह : कैमूर, बिहार

सिपाही जावरा मुंडा : खूंटी, झारखंड

सिपाही नायमन कुजूर : गुमला, झारखंड

सिपाही विश्वजीत गोराई : द. 24 परगना, वेस्ट बंगाल

सिपाही जी दलाई : हावड़ा, वेस्ट बंगाल

लांस नायक आरके यादव : बलिया, यूपी

हवलदार एनएस रावत : राजसमंद, राजस्थान

सिपाही गणेश शंकर : संत कबीर नगर, यूपी

सिपाही के विकास जनार्दन: यवतमाल, महाराष्ट्र

देश की तरफ से इन जवानों को सलाम। जय हिन्द।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News