ट्रेजिडी किंग दिलीप कुमार के जीवन से जुड़ी 15 बातें जिनसे आप शायद ही वाकिफ होंगे।

author image
1:03 pm 11 Dec, 2015


दिलीप कुमार आज अपना 94वां जन्मदिन मना रहे हैं। अपने दौर के सफलतम और बेहतरीन अभिनेताओं में एक रहे दिलीप कुमार उर्फ मोहम्मद यूसुफ खान का शुरुआती जीवन बेहद तंगहाली में बीता था। उनके पिता मुम्बई की सड़कों पर फल बेचकर अपने परिवार का गुजारा करते थे। युवा दिलीप कुमार पिता के कारोबार में हाथ बंटाते थे। इस दौरान उनकी देवीका रानी से हुई एक मुलाकात ने जिन्दगी बदल दी। हम यहां दिलीप कुमार के जीवन से जुड़ी वे 15 बातें बताने जा रहे हैं, जिनसे आप शायद ही वाकिफ होंगे।

1. यूसुफ खान का जन्म पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। देश विभाजन के बाद उनके पिता मुम्बई में आ बसे।

2. हिन्दी फिल्मों में किस्मत आजमाने के लिए यूसुफ ने अपना नाम बदल कर रख लिया, दिलीप कुमार। इससे उन्हें पहचान और सफलता मिली।

3. त्रासदीपूर्ण भूमिकाओं के बखूबी निर्वाह के लिए उन्हें कहा गया ट्रेजिडी किंग।

4. उन्हें वर्ष 1995 में भारतीय फिल्मों के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

5. दिलीप कुमार को वर्ष 1998 में पाकिस्तान का सर्वोच्च नागरिक सम्मान निशान-ए-इम्तियाज़ से भी सम्मानित किया गया।

6. वह भारतीय संसद के उच्च सदन राज्य सभा के सदस्य रह चुके हैं।

7. दिलीप कुमार ने अभिनेत्री सायरा बानो से 1966 में विवाह किया।

8. विवाह के समय उनकी उम्र 44 वर्ष और सायरा बानो की 22 वर्ष की थी।

9. वर्ष 1980 में उन्हें सम्मानित करने के लिए मुंबई का शेरिफ घोषित किया गया।

10. वर्ष 1944 में दिलीप कुमार की पहली फिल्म रीलिज हुई। इस फिल्म का नाम था, ‘ज्वार भाटा’।

11. वर्ष 1949 मे बनी फिल्म अंदाज़ की सफलता ने उन्हे प्रसिद्धी दिलाई।

12. फिल्म ‘दीदार’ और ‘देवदास’ जैसी फिल्मों में काम करने की वजह से उनको उपनाम दिया गया, ट्रेजिडी किंग का।

13. दिलीप कुमार एक अच्छे पटकथा लेखक भी रहे हैं।

14. उन्होंने ही फिल्म लीडर की पटकथा लिखी थी। हालांकि, यह फिल्म कामयाब नहीं हो सकी।

15. दिलीप कुमार की गिनती अतिसंवेदनशील कलाकारों में की जाती है।

Discussions



TY News