ये देश हैं काली कमाई के अड्डे, नहीं लगता है एक पैसे का टैक्स

author image
6:37 pm 11 Nov, 2016

देश में 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों पर प्रतिबंध लगने के बाद हर तरफ इसकी ही चर्चा है। तमाम तरह की रिपोर्ट्स आ रही हैं। बोरी भर-भर कर रुपए जलाए जा रहे हैं। कूड़ेदान में फेंके जा रहे हैं। इन रुपयों को बचाने के लिए लोगों ने क्या नहीं किया होगा।

बदले हुए माहौल में हम आपको दुनिया के उन 5 देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां लोगों को टैक्स नहीं चुकाना पड़ता। यही नहीं, यहां गोपनीयता पहली शर्त होती है और न ही डाटा के साथ कोई छेड़छाड़। इन देशों को टैक्स हेवन के नाम से भी जाना जाता है।

1. स्विट्जरलैंड

टैक्स हेवेन देशों की सूची में पहले पायदान पर है यूरोप का स्विटजरलैन्ड। यहां बैंकों की गोपनीयता की नीति की वजह से यह देश पैसे वालों के बीच बेहद लोकप्रिय है। लंबे समय से कहा जाता रहा है कि कि यहां के बैंकों में कई धनवान भारतीयों के अकाउन्ट्स हैं।

2. पनामा

हाल ही में यह छोटा सा देश चर्चा में आया है। खासकर पनामा पेपर लीक्स के बाद से। माना जा रहा है कि यहां कई भारतीयों की फर्जी कंपनियां हैं, जो काले धन को उजला बनाने का काम करती हैं।

3. बहरीन


विदेशी कंपनियों के लिए इस देश में तो आयकर देना पड़ता है और न ही कॉरपोरेट टैक्स। पैसे कमाइए और बचाइए। यहां की अर्थव्यवस्था आमतौर पर तेल से चलती है, लेकिन ब्लैकमनी का रोल भी कम नहीं है।

4. हांगकांग

इस देश में टैक्स दर बेहद कम है। हालांकि, यह चीन में है, इसके बावजूद यहां की अपनी अलग मुद्रा, अलग कानून और अलग राजनीति है। यहां भी गोपनीयता की नीति को फॉलो किया जाता है। यही वजह है कि दुनियाभर के व्यवसायी हांगकांग में पैसा जमा करना उचित समझते हैं।

5. लग्जमबर्ग

इस देश की आबादी है महज पांच लाख के करीब। अपनी बैंकिंग व्यवस्था की वजह से यह देश बेहद धनी है। जर्मनी, फ्रांस और बेल्जियम के बीच स्थित इस देश को भी टैक्स हेवेन माना जाता है।

Discussions



TY News