यहां जला दी गईं हजारों बंदूकें, जानिए क्यों

2:28 pm 16 Nov, 2016


जातीय हिंसा से ग्रस्त अफ्रीकी देश केन्या की राजधानी नैरोबी में मंगलवार को करीब 5,250 बंदूकें जला दी गईं।

ये बंदूकें पिछले 6 महीनों तक चले अभियान के दौरान उग्रवादियों से बरामद किए गए थे।

केन्या की सेना अब तक 5 लाख से अधिक अवैध आग्नेयास्त्र बरामद कर चुकी है। इन हथियारों में 1 लाख से अधिक एके-47 हैं।

एनबीसी न्यूज ने उपराष्ट्रपति विलियम रूटो के हवाले से बताया है कि देश में बंदूक लाइसेन्स के नियम और कड़े किए जाएंगे, ताकि ये आसानी से लोगों तक न पहुंचे।

जिन बंदूकों को जलाया गया है वे पिछले 9 सालों में उपद्रवियों के पास से बरामद कर जमा रखे गए थे।

केन्या में वर्ष 2013 में यूहूरो केन्यात्ता राष्ट्रपति बने थे। इसके बाद से ही यहां हिंसा का माहौल है। जारी हिंसा में पिछले दो साल में कम से कम 30 हजार लोग मारे गए हैं। केन्या में हिंसा से निपटने के लिए सेना को लगाया गया है।

नैरोबी में ही कुछ दिन पहले सैकड़ों करोड़ रुपए के हाथी दांत फूंक दिए जाने का मामला सामने आया था।

यहां एक साथ 100 टन से अधिक हाथी दांत जलाकर राख कर दिए गए। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत 660 करोड़ रुपए थी।

दरअसल, केन्या की सरकार को इस बात की आशंका है कि अगर हाथी दांत की तस्करी के लिए इसी तरह उनका शिकार किया जाता रहा तो यह जानवर अगले 50 सालों में विलुप्त हो जाएगा। माना जाता है कि चीन में इन दांतों की जबर्दस्त मांग है।

Discussions