शादी नहीं, हनीमून पे खर्च कीजिये, जानते हैं क्यों?

author image
4:23 pm 25 Sep, 2015

शादी का खुमार जल्दी नहीं उतरता। किसी भी आदमी के वैवाहिक जीवन की शुरूआत हनीमून से होती है। यह वह समय होता है, जब नव-विवाहित जोड़े एक-दूसरे के साथ समय बिताना पसन्द करते हैं। बस जगह अच्छी होनी चाहिए। शांत, सुन्दर और सुरम्य। अगर आप बजट के लिहाज से सोचेंगे तो इतना जान लीजिए कि जितना खर्च आप हनीमून पर करेंगे, उससे कम से कम दस गुना ज्यादा तो शादी पर खर्च करना पड़ेगा। खैर, हम यहां हम बताएंगे कि आपको क्यों शादी पर कम और हनीमून पर ज्यादा पैसा खर्च करना चाहिए।

1. प्रत्येक जोड़ा अपनी शादी-शुदा जिन्दगी के शुरूआती दिनों को एक साथ बिताना चाहता है।

2. इस दौरान आप दोनों एक-दूसरे को अच्छी तरह समझ सकते हैं।

3. शादी के घर तमाम दुश्वारियां होती हैं, जबकि हनीमून पर ऐसा कुछ नहीं होता।

4. आप उस लिस्ट से छुटकारा पा सकते हैं, कि किसको बुलाना है और किसको नहीं।

5. हनीमून पर बिताए गए लम्हों को आप जिन्दगी भर सहेज कर रख सकते हैं।

6. हनीमून कुछ दिनों का खूबसूरत ब्रेक होता है।

7. इस दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ दुनिया के कुछ बेहतरीन भोजन का स्वाद चख सकते हैं।

8. शादी के बाद भी कई लोगों की इच्छा होती है कि स्वपनिल दुनिया में अपने जीवनसाथी से प्रेम का इजहार करें।

9. अगर आपको लगता है कि आप रोमान्टिक हैं, तो फिर हनीमून सबसे बेहतर जगह है।

10. हनीमून के दौरान बिताए गए लम्हों से दोनों के बीच संबंध प्रगाढ़ होते हैं।

11. आप यहां समय नहीं बिता रहे होते हैं। बल्कि आप उन लम्हों को कैद कर रहे होते हैं, जिन्हें आप जीवन भर नहीं भूलना चाहेंगे।

whicdn

12. इस दौरान आपको यह पूछने की जरूरत नहीं पड़ती, खाना खाया या नहीं।

13. हनीमून एक-दूसरे को सरप्राइज देने के लिहाज से अच्छी जगह हो सकती है।

14. यह एक ऐसा मौका होता है जब आप अपने साथी के ह्दय तक पहुंच सकते हैं.

15. इस दौरान ढेर सारा रुपया खर्च करने के बाद भी आपको खुशी महसूस होती है।

16. हनीमून जीवन में ताजगी का अहसास देता है।

17. एक दूसरे के साथ रहते हुए दिन कैसे बीत जाएंगे, पता भी नहीं चलेगा।

18. घर में शादी के कोहराम दूर हनीमून सुकून देता है।


तो दोस्तों, आप समझ गए होंगे कि शादी से अधिक हनीमून पर क्यों खर्च करना चाहिए। है कि नहीं?

Discussions



TY News