बस्तर में तीन जवान शहीद, माओवादियों से घिरे 200 जवानों को सुरक्षित निकाला

author image
11:53 am 5 Mar, 2016

बस्तर में माओवादियों से घिरे 200 जवानों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए हैं, जबकि 17 गंभीर रूप से घायल हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, बस्तर के डब्बामरका इलाके में जवानों को माओवादियों ने तीन तरफ से घेर लिया था। कई जवान खून से जिस्म के भींगने के बावजूद नक्सलियों से लोहा लेते रहे।

माओवादियों के खिलाफ यह ऑपरेशन 1 मार्च की सुबह को किस्टाराम इलाके में शुरू किया गया। किस्टाराम और गोलापल्ली का यह इलाका नक्सलियों का हेडक्वार्टर माना जाता है।

इस इलाके में जवान करीब 14 किलोमीटर अंदर तक घुस गए, लेकिन माओवादियों ने उन्हें तीन तरफ से घेर लिया और हमला कर दिया।

इस हमले में घायल फत्ते सिंह, एनएस लांजु और लक्ष्मण कुर्ती ने समय पर इलाज नहीं मिल पाने की वजह से दम तोड़ दिया। जबकि 20 अन्य जवान घायल हो गए।


रात को पता चला कि यहां माओवादियों का सामना कर रही दो सौ जवानों की कोबरा बटालियन फंस चुकी है।

इन जवानों को निकालने के लिए शुक्रवार की सुबह ऑपरेशन शुरू किया गया। इस अभियान में 7 सौ से अधिक जवान शामिल थे।

इस मुठभेड़ में दस से अधिक माओवादियों के मारे जाने की खबर है।

Discussions



TY News