राहुल गांधी पर फेंका गया जूता, आरोपी हिरासत में

6:08 pm 26 Sep, 2016


उत्तर प्रदेश के सीतापुर में किसान यात्रा पर निकले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर एक व्यक्ति ने जूता उछाल दिया। आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राहुल गांधी ने इसमें संघ-भाजपा का हाथ करार दिया है।

वहीं, इस घटना की जानकारी देते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने बताया कि जिस समय राहुल गांधी की ओर जूता फेंका गया, उस समय वह लखनऊ से करीब 85 किमी दूर सीतापुर शहर में एक खुले वाहन पर यात्रा कर रहे थे। जूता उनके पीछे एक व्यक्ति को लगा।

इस बीच, पुलिस के पूछताछ में आरोपी ने राहुल गांधी पर जूता फेंकने की वजह बताते हुए कहाः

“60 साल तक इन्होंने देश को गर्त में डाल दिया है। जूता इसलिए मारा, क्‍योंकि ये कह रहे हैं कि बिजली हाफ, किसान का कर्ज माफ। 60 साल जब सत्‍ता में राज किया, तब इन्‍होंने माफ क्यों नहीं किया।”


बाद में राहुल गांधी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहाः

“मैं एक बस पर सवार होकर जा रहा था और मुझ पर जूता फेंका गया। यह मुझे नहीं लगा। मैं बीजेपी और आरएसएस से कहना चाहता हूं कि आप मुझपर जितने मर्जी जूते फेंकें, लेकिन मैं पीछे नहीं हटूंगा। मैं आपसे नहीं डरता। मैं प्यार और भाईचारे में हमेशा विश्वास रखूंगा और आप नफरत के साथ चिपके रहें।”

उत्तर प्रदेश में इन दिनों राहुल गांधी की किसान यात्रा की चर्चा कम और खाट के लूट की चर्चा अधिक हो रही है। किसान यात्रा के पहले चरण में राहुल गांधी ने 2500 किलोमीटर से अधिक की यात्रा की और 5 सौ से अधिक छोटी सभाओं को संबोधित किया।

उन्होंने अपनी प्रत्येक सभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। लेकिन उनके बयान को मीडिया में तवज्जो नहीं मिली। चर्चा में रही, सभा के बाद खाटों की लूट।

Discussions