जिन्होंने आपको इतनी खूबसूरत ज़िन्दगी दी क्यों न इस वैलेंटाइन उन्हें ‘आई लव यू’ कहा जाए

author image
11:26 am 14 Feb, 2016

वैलेंटाइन जैसा कि हम सब जानते ‘प्यार का त्योहार’ जिसमें लोग अपने प्यार का इज़हार करते है। अपने उन चाहने वालों के लिए गिफ्ट्स, उन्हें बाहर घुमाने ले जाते है। और अगर आपने उन्हें गिफ्ट नहीं दिए या बाहर नही ले गए तो कुछ कभी नाराज़ भी हो जाते है।

आज के युवा लड़के अपनी पॉकेट मनी से अपनी गर्लफ्रेंड के लिए गिफ्ट्स खरीदते है ताकि उनकी गर्लफ्रेंड कहीं बुरा मानकर ये न कह दे, माय शोना तुम तो मुझसे प्यार ही नहीं करते। जाओ मैं तुमसे बात ही नहीं करती। तुम्हें तो सिर्फ तुमसे मतलब है, मेरी तो तुम्हे कोई फिक्र ही नहीं है और फिर नॉनस्टॉप यही प्रवचन चलता रहता है। फिर उन्हें मनाना, ये वो ऐसा वैसा। उफ्फ !

अब लड़के भी तो किसी से कम थोड़ी न है ! उन्हें भी तो अटेंशन चाहिए, अगर लड़की ने मना कर दिया कि वो बिजी है नही आ सकती मिलने, तो ये नवाब भी बुरा मान जाते है कि इसे कोई मतलब ही नही है मुझसे।

लेकिन कभी आपने अपने पेरेंट्स के लिए इतनी मसक्कत की है। सोचिए, सोचिए आराम से सोचिए उनकी हर एक-एक बात को याद करिए कि उन्होंने आपके लिए अब तक क्या-क्या नही किया है।


आप जब पैदा हुए तब से लेकर अब तक आपके पेरेंट्स ने आपकी हर इच्छा पूरी की होगी। गलती की होगी तो डांटा भी होगा। जब आप बीमार पड़ते हो, या आपको चोट लगती है तो सबसे पहले किसकी याद आती है माता-पीता की। आप चाहे शादी-शुदा हो या सिंगल, या फिर रेडी टू मिंगल, माता-पीता की जगह कोई नहीं ले सकता।

आपकी एक छींक में उनकी दिल की धड़कन तेज हो जाती है। आप किसी तकलीफ में होते हो, आपसे कई ज़्यादा तकलीफ उन्हें होती है। चाहे आप जीतने भी बड़े हो जाए लेकिन आप अपने माता-पीता के लिए हमेशा वही, उनकी परछाई रहेंगे।

हमारे पेरेंट्स हमारे लिए इतना कुछ करते है इसके बदले वो हमसे कुछ नही मांगते, वो बस यही चाहते है कि उनका बच्चा जो करे सही करे और सही सलामत रहे। इस वैलेंटाइन गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड को फूल, गिफ्ट्स, कार्ड देने के बजाय क्यों न अपने पैरंट्स को एक आई लव यू बोला जाए और साथ में थैंक्यू कि उन्होंने इतनी खूबसूरत ज़िन्दगी आपको दी।

मैं जानती हूँ थैंक्यू शब्द बहुत-बहुत छोटा है उन सब चीज़ों के सामने जो उन्होंने आपके लिए की है। लेकिन एक बार कह के तो देखिए आप जो पाएंगे उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।

यहाँ कुछ पंक्तियाँ मेरी तरफ से जो शायद आपके दिल के तारों को एक अलग अंदाज़ में छू जाए:

तेरे आँचल में मैं सर रखकर जो सोया
सुकून भरी नींद मुझे आई माँ,
कभी किसी मोड़ पर जो कमजोर मैं पड़ा
हिम्मत की लौ तुमने जगाई पापा,
करता हूँ कितना प्यार आपसे
ये बतला नहीं सकता,
इसलिए चंद शब्दों में पिरोया है इस प्यार को
जिसे कोई झुठला नहीं सकता।
Happy Valentine’s Day 

Discussions



TY News