पीवी सिंधु को करना पड़ा सिल्वर से संतोष, स्वर्ण पदक पर स्पेन की कैरोलिना ने मारी बाजी

author image
9:05 pm 19 Aug, 2016

रियो ओलंपिक्स के निर्णायक मैच में स्पेन की वर्ल्ड नंबर वन कैरोलिना मारिन ने पीवी सिंधु को मात दे स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

शुरुआत में पिछड़ने के बाद सिंधू ने शानदार तरीके से वापसी की और पहला गेम 21-19 से अपने नाम किया। लेकिन दूसरे और तीसरे गेम में कैरोलीना ने बाजी मारी। दूसरे गेम में कैरोलीना ने 21-12, वहीं तीसरे और आखिरी गेम में सिंधु को एक कड़े और रोमांचित मुकाबले में 21-15 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

PV sindhu

120 साल के ओलंपिक इतिहास में बैडमिंटन फाइनल में पहुंचने वाली देश की पहली खिलाड़ी पीवी सिंधु ने रजत पदक अपने नाम दर्ज किया।


Sindhu

उनसे पहले साइना नेहवाल ओलंपिक सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली खिलाड़ी थीं।

साथ ही सिंधु ओलंपिक में मेडल जीतने वाली भारत की पांचवी महिला खिलाड़ी भी बन गई हैं।

सिंधु ने गुरुवार रात को सेमीफाइनल में छठी रैंकिंग वाली जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-19 और 21-10 से मात दे फाइनल में प्रवेश किया था।

सिंधु ने जब-जब किया देश को गौरवान्वित:

  • सिंधु ने 2016 और 2014 में उबेर कप में कांस्य, 2016 सैफ गेम्स सिंगल्स मुकाबले में सिल्वर और टीम स्पर्धा में गोल्ड जीता।
  • 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स के सिंगल्स मुकाबले में कांस्य पदक भी जीता।
  • सिंधु 2013 में मलेशिया ओपन का ख़िताब भी अपने नाम कर चुकी है।
  • इसके अलावा वह वर्ल्ड चैंपियनशिप में लगातार दो बार कांस्य पदक जीत चुकी हैं।
  • मकाउ ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।
  • साल 2010 में ईरान फज्र इंटरनेशनल बैडमिंटन चैलेंज के एकल वर्ग में रजत पदक जीता।
  • साल 2009 में कोलंबो में आयोजित सब जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिंधु ने कांस्य पदक अपने नाम दर्ज कराया।

Discussions



TY News