प्रधानमंत्री मोदी ने किया बड़ा ऐलान, अब बेनामी संपत्ति रखने वालों की खैर नहीं

1:00 pm 13 Nov, 2016


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में काला धन समाप्त करने पर अपनी प्रतिबद्धता जताते हुए कहा है कि उनके निशाने पर बेनामी संपत्ति रखने वाले होंगे।

जापान की यात्रा से लौटने के बाद गोवा में शिपयार्ड फेज-3 परियोजना का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार बेनामी संपत्ति वालों पर कानूनन हमला बोलने वाली है। उन्होंने कहा कि यह संपत्ति देश के गरीबों की है। यहां उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दूसरे देशों के साथ हुए पुराने समझौतों में बदलाव करना जरूरी थी, जो उनकी सरकार ने किया है।

कालाधन पर देश में मची अफरातफरी पर प्रधानमंत्री ने कहाः

“8 तारीख रात 8 बजे देश के लाखों लोग चैन की नींद सो रहे थे। अब लोग नींद को गोलियां खरीदने जा रहे हैं, गोलियां नहीं मिल रही हैं। सत्ता संभालते ही मैंने काले धन के मुद्दे पर SIT बनाई क्योंकि लोगों की मुझसे अपेक्षाएं हैं।”

उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए धीरे-धीरे दवाइयां दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जब केन्द्र सरकार ने आभूषणों पर एक्साइज ड्यूटी लगाई तो उन्हें डराया गया। उनका विरोध किया गया, लेकिन उन्होंने यह फैसला वापस नहीं लिया।

प्रधानमंत्री ने कहाः

”सरकार बनाते ही मैंने कालाधन पर कदम उठाया था। मेरी कैबेनिट के पहले दिन ही मैंने एसआईटी गठित की। मैं देश को कभी अंधेरे में नहीं रखा। गलतफहमी में नहीं रखा है। खुलकर ईमानदारी से बात कही। और सबको पता था कि इस फैसले से लोगों को तकलीफ होगी।”

गौरतलब है कि इससे पहले जापान में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि जिनके पास बेहिसाब संपत्ति है वे बख्शे नहीं जाएंगे।

Discussions