जेल में बंद नेताओं की रिहाई पर गुजरात में बवाल, आज राज्यव्यापी बंद

11:10 am 18 Apr, 2016


पटेल आरक्षण की मांग पर गिरफ्तार हुए नेताओं की रिहाई के मसले पर गुजरात में बवाल अब भी जारी है। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की रिहाई को लेकर पाटीदार समाज के लोगों ने आज गुजरात बंद बुलाया है। ये लोग अपने समुदाय के लोगों के लिए आरक्षण की मांग भी कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि राज्य के तमाम बड़े शहर मेहसाणा, सूरत, अहमदाबाद, राजकोट, वडोदरा और साबरकांठा में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। इन इलाकों को संवेदनशील घोषित किया गया है और यहां सुरक्षा के कड़े इन्तजाम किए गए हैं।

इसके अलावा दो पुलिस थाना इलाकों वराछा और कापोदरा में धारा 144 लागू है।

संभावित हिंसा की घटनाओं को देखते हुए राज्य में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) की पांच कंपनियां और स्टेट रिजर्व पुलिस (एसआरपी) की 20 कंपनियों को पूरे राज्य में तैनात किया गया है।

यही नहीं, नियमित पुलिस बल के अलावा, हमदाबाद और मेहसाणा में आरएएफ की दो-दो कंपनियां और एक कंपनी सूरत में तैनात की गई है।

जरूरत पड़ने पर केन्द्र से रैपिड एक्शन फोर्स की 10 और कंपनियां आवंटित करने को कहा जाएगा।


गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को जेल भरो आंदोलन के दौरान मेहसाणा में हिंसा भड़क गई थी। पुलिस ने पाटीदार समाज को यहां आंदोलन की मंजूरी नहीं दी थी। बड़ी तादाद में अचानक जुटे लोगों के साथ पुलिस की झड़प हो गई। आंदोलनकारियों पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और हवाई फायरिंग की।

बाद में उग्र लोगों की भीड़ ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया और कई स्थानों पर तोड़फोड़ की। हालात की गंभीरता को देखते हुए मेहसाणा में कर्फ्यू लगा दिया, जो आज भी जारी है। सूरत में भी हिंसा की कुछ छिटपुट घटनाएं हुई हैं।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सूबे की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को फोन कर हालात का जायज़ा लिया है।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News