उत्तर कोरिया ने किया मिसाइल का परीक्षण, भड़का जापान

author image
3:23 pm 3 Aug, 2016


उत्तर कोरिया ने एक बार फिर मध्यम दूरी की रेन्ज के बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। यह मिसाइल जापान के अधिकार क्षेत्र वाले सागर की तरफ दागी गई थी।

इस घटना के बाद इस इलाके में तनाव चरम पर है। जापान ने जहां इसे अपनी सुरक्षा को खतरा बताया है, वहीं दक्षिण कोरिया ने इसे सीधे तौर पर हमला करार दिया है।

संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को धता बताते हुए उत्तर कोरिया एक के बाद एक मिसाइलों का परीक्षण कर रहा है।

दक्षिण कोरिया की सरकार ने इस बात की जनकारी देते हुए कहा कि प्योंगयांग के दक्षिण-पश्चिम में मौजूद ह्वान्घेई प्रॉविन्स से रोदोंग मिसाइल दागी गई।

खास बात यह है कि ये मिसाइल 1 हजार किलोमीटर दूर जापान के अधिकार वाले सागर में गिरीं।

tasnimnews

tasnimnews


दक्षिण कोरिया का कहना है कि उत्तर कोरिया मिसाइल परीक्षण के जरिए अपने पड़ोसी देशों पर निशाना साधने की कार्रवाई कर रहा है। यह कोशिश सीधे तौर पर हमला है।

वहीं, जापान ने त्वरित प्रतिक्रिया जारी करते हुए कहा है कि यह मिसाइल जापान के इकोनॉमिक जोन के पास गिरी है, जहां रिसोर्सेज के इस्तेमाल का अधिकार टोक्यो के पास है।

जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो अबे ने इसे सुरक्षा के लिहाज से हिंसक कदम करार दिया है।

इस बीच माना जा रहा है कि उत्तर कोरिया का यह कदम दोनों क्षेत्रों के बीच तनाव बढ़ाने का काम करेगा। उत्तर कोरिया के लगातार मिसाइल परीक्षणों के बाद ही अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में एंटी मिसाइल सिस्टम थार स्थापित करने की बात कही थी।

थार के विरोध में चीन और रूस सरीखे देश अपना विरोध जारी कर चुके हैं। इन देशों का कहना है कि थार के दक्षिण कोरिया में स्थापित किए जाने पर इस क्षेत्र में तनाव बढ़ेगा।

गौरतलब है कि एक के बाद एक कई परमाणु परीक्षण करन के बाद संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा दिए थे।

तमाम प्रतिबंधों के बावजूद उत्तर कोरिया ने अपना परीक्षण जारी रखा है। विश्लेष्कों का मानना है कि इन देशों के बीच तनाव इस कदर बढ़ गया है कि वर्ष 1950-53 के बीच हुए युद्ध की आहट सुनाई दे रही है।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News