विजय माल्या के खिलाफ गैर जमानती वारन्ट जारी, बैंक सेटलमेन्ट के लिए हैं तैयार

author image
2:07 pm 13 Mar, 2016

हजारों करोड़ का कर्ज लेकर लंदन भाग गए शराब और एयरलाइन्स कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ हैदराबाद की एक अदालत ने गैर जमानती वारन्ट जारी किया है। यही नहीं, कोर्ट ने स्थानीय पुलिस को आदेश दिया है कि विजय माल्या को 13 अप्रैल तक अदालत में पेश किया जाए।

14वें एडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट जीएस रमेश कुमार की अदालत ने यह आदेश जीएमआर हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई करने के बाद दिया। कंपनी ने विजय माल्या पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। कंपनी के मुताबिक, माल्या ने जो चेक जारी किए थे, वे बाउन्स हो गए।

इस बीच, बैंकों का कहना है कि वे देश छोड़कर जा चुके विजय माल्या से सेटलमेन्ट के लिए तैयार हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल विजय माल्या ने बैंकों से सेटलमेन्ट के लिए एक फॉर्मूला दिया था। उसके मुताबिक, उनकी कम्पनी ने बैंकों से जो कर्ज लिया है, उस पर ब्याज माफ कर दिया जाए। इसके अलावा मूलधन के भुगतान में भी कुछ रियायत दी जाए।

अब बैंकों का कहना है कि वे ब्याज की माफी दे सकते हैं, लेकिन मूलधन के भुगतान में छूट नहीं दी जाएगी।


कहा जा रहा है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली, वित्त राज्य मंत्री जयन्त सिन्हा ने रिजर्व बैंक ऑफ इन्डिया के गवर्नर रघुराम राजन के साथ विजय माल्या मामले को लेकर एक बैठक की।

बताया गया है कि माल्या बैंक लोन प्रकरण की जांंच सीबीआई कर सकती है। माना जा रहा है कि कुछ प्रभावशाली नेताओं ने बैंकों पर विजय माल्या को लोन देने के लिए दबाव बनाया था। यही वजह थी कि किंगफिशर एयरलाइन्स के खस्ताहाल होने के बावजूद उसे लोन दिया गया।

वहीं, फिलहाल लंदन में मौजूद माल्या ने आरोप लगाया कि मीडिया उनका पीछा कर रहा है। उन्होंने मीडिया से बात करने से इन्कार किया है।

गौरतलब है कि माल्या की बंद पड़ी एयरलाइन्स कंपनी किंगफिशर पर 17 बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए से अधिक बकाया हैं।

Discussions



TY News