दिव्यांगों को समान अवसर के लिए प्रोत्साहित करता है निपमैन फाउंडेशन इक्वल अपॉर्चुनिटी अवार्ड

3:18 pm November 24, 2016


3 दिसम्बर को मनाए जाने वाले अंतरराष्‍ट्रीय दिव्यांग दिवस से पहले निपमैन फाउन्डेशन इक्वल अपॉर्चुनिटी अवार्ड 2016 के विजेताओं की घोषणा कर दी गई है।

निपमैन फाउंडेशन इक्वल अपॉर्चुनिटी अवार्ड, निपमैन द्वारा की गई एक सराहनीय पहल है, जिसके अन्तर्गत यह उन कंपनियों और संस्थाओं को सम्मानित करते हैं, जो दिव्यांग लोगों को रोजगार देने, उन्हें बढ़ावा देने के क्षेत्र में अपना विशेष योगदान दे रहे हैं।

2014 में हुए इस अवार्ड की शुरुआत का यह तीसरा साल है। इस पुरस्कार समारोह के विशेष कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बीजू जनता दल के सांसद बैजयंत जय पांडा और दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के संयुक्त सचिव, अवनीश के अवस्थी ने सम्मानित अतिथि के तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

इस अवार्ड समारोह में कई प्रतिभागियों में से तीन कंपनियों को इस साल के अवार्ड से सम्मानित किया गया। कर्नाटक की ANZ Bengaluru Hub, बेंगलुरु की IBM Pvt ltd India और महाराष्ट्र की Sunrise Candles को यह अवार्ड दिया गया।

वहीं, दो आवेदकों को विशेष सराहना पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया, जिसमें इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड- इंडिगो एयरलाइंस (हरियाणा) और स्क्वायरमील फ़ूड प्राइवेट लिमिटेड (महाराष्ट्र) शामिल हैं।

 


 

IBM इंडिया / दक्षिण एशिया के उपाध्यक्ष मानव संसाधन और मानव संसाधन प्रमुख, दिलप्रीत सिंह ने अपनी कंपनी को मिले इस अवार्ड पर कहा:

“IBM एक विविध माहौल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और हमें गर्व है कि हम सबको समान अवसर देने की दिशा में अपना योगदान दे रहे हैं। हमारी तरह ऐसी बहुत कम कंपनियां होती हैं, जो सबको साथ लेकर चलती हैं। IBM का सबको समान अवसर देने और विकलांग लोगों की सहायता के लिए टेक्नोलॉजी लाने का 100 साल से ज्यादा की प्रतिबद्धता की विरासत रही है। शरीर से असक्षम लोगों के लिए IBM की नीति तीन A के फॉर्मूले पर आधारित है, जिसमें एकोमोडेशन, एक्सेसिबिलिटी और एट्टीट्यूड शामिल है। हमारा दृष्टिकोण है कि हम विभिन्न समूहों के बीच के अंतर की सराहना और उसकी इज्जत करते हैं। IBM में एक एम्प्लोयी को हायर करने का मतलब, सही काम के लिए सही उम्मीदवार और आपसी सम्मान सुनिश्चित करना है।”

वहीं, ANZ में कुल कर्मचारियों के दो प्रतिशत से अधिक पीपल विथ डिसेबिलिटी (PwD) कर्मचारी हैं और 80 फीसदी PwD कर्मचारियों को उनके अच्छे प्रदर्शन की बदौलत कम से कम एक बार प्रमोट भी किया गया है। उधर, महाबलेश्वर स्थित, देखने में अक्षम भावेश भाटिया द्वारा स्थापित की गई Sunrise Candles एक मोमबत्ती बनाने वाली कंपनी है, जहां काम करने वाले सभी 2,280  कर्मचारी नेत्रहीन हैं।

इस साल के अवार्ड की जूरी में, जूरी के अध्यक्ष- डॉ राजीव कुमार, पूर्व महासचिव, FCCI और अर्थशास्त्री; जॉर्ज अब्राहम, स्कोर फाउंडेशन के संस्थापक; जवाहरलाल कोत्तूर, सीआईआई के निदेशक; करुणा नंदी, वकील और मानवाधिकार कार्यकर्ता;  महिमा कौल, सार्वजनिक नीति प्रमुख, ट्विटर; (स्वर्गीय) संजीव सचदेवा, दिव्यांगता अधिकार कार्यकर्ता शामिल थे।

इस अवार्ड के क्यूरेटर और सीईओ निपुण मल्होत्रा ने विजेताओं की घोषणा करते हुए कहाः

“हमारा मानना है कि किसी भी शख्स के लिए अपनी आजीविका के लिए खुद से कमाने से अधिक सम्मानजनक बात कुछ भी नहीं है। हमें ऐसे कार्यस्थलों को पहचानने की जरूरत का एहसास हुआ, जहां दिव्यांगों के लिए रोजगार के अवसर हों। हमें उम्मीद है कि इस अवार्ड के जरिए और कई कंपनियों द्वारा लाभ से परे सोचकर इस दिशा में उठाए गए कदमों से एक नई सोच को बढ़ावा मिलेगा। मैं सभी आवेदकों को इक्वल अपॉर्चुनिटी के ब्रांड एम्बेसडर होने के लिए धन्यवाद करता हूं। साथ ही जूरी का भी धन्यवाद करता हूं जिन्होंने एक मुश्किल कार्य लेते हुए कई प्रतिभागियों में से किन्ही तीन के चुनाव के कार्य को बखूबी निभाया। मैं अपनी माँ और निपमन फाउंडेशन की ट्रस्टी प्रियंका मल्होत्रा का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने असमानता की इस लड़ाई में एक योद्धा की तरह मेरा साथ दिया है।”

nipun

निपुण मल्होत्रा Twitter

2012 में स्थापित हुई निपमैन फाउंडेशन एक स्वयंसेवी-गैरलाभकारी संगठन है। इस फाउंडेशन का उद्देश्य दिव्यांग और समाज द्वारा वंचित लोगों को स्वास्थ्य और शिक्षा की सुविधा प्रदान करना है। यह संगठन शिक्षा, वोकेशनल ट्रेनिंग, जागरूकता, काउंसलिंग जैसे क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे रहा है।

Facebook Discussions