प्लेन क्रैश के बाद भी जीवित थे नेताजी, किए थे 3 रेडियो प्रसारण

author image
5:40 pm 31 Mar, 2016


नेताजी सुभाष चन्द्र बोस हवाई हादसे के बाद भी जिन्दा थे और उन्होंने रेडियो के जरिए तीन बार संदेश प्रसारण करवाया था। मंगलवार को नेताजी के गुमशुदगी से संबंधित गोपनीय फाइलों के सामने आने के बाद इस बात जानकारी मिली है।

भारत की आजादी से पहले ताईपेई में हुई प्लेन क्रैश की घटना के संबंध में नेताजी के जिन्दा बचने के बारे में साफ तौर पर कुछ कहा नहीं जा सकता है, लेकिन इन गोपनीय फाइलों से पता चलता है कि नेताजी ने इस घटना के बाद भी रेड़ियो पर संदेश जारी किए थे।

पहला संदेशः 26 दिसंबर, 1945

“मैं वर्ल्ड पावर्स की शेल्टर में हूं। लेकिन मेरा दिल भारत के लिए जल रहा है। मैं थर्ड वर्ल्ड वॉर के बाद भारत जाऊंगा। हो सकता है, इसमें 10 साल या उससे कम लगें। तब मैं उन लोगों के खिलाफ फैसला सुनाऊंगा जो लाल किले से मेरे लोगों के खिलाफ केस चला रहे हैं।”


दूसरा संदेशः 1 जनवरी, 1946

“हमें दो साल के अंदर आजादी जरूर मिल जाएगी। ब्रिटेन का साम्राज्यवाद खत्म होगा और देश को आजादी मिलेगी। भारत को अहिंसा से आजादी नहीं मिल सकती। लेकिन मैं गांधी जी की इज्जत करता हूं।”

तीसरा संदेशः फरवरी, 1946

“मैं सुभाष चंद्र बोस बोल रहा हूं। जय हिंद! जापान के सरेंडर के बाद मैं तीसरी बार अपने हिंदुस्तानी भाइयों और बहनों से बात कर रहा हूं। ब्रिटिश पीएम पैथिक लॉरेंस के साथ दो और लोगों को भारत भेज रहे हैं, ताकि ये लोग ब्रिटेन के साम्राज्यवाद को बढ़ा सकें और हमारे देश का खून चूसा जा सके।”

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News