आतंकवाद को पारिभाषित करिए, नहीं तो UN अप्रासंगिक हो जाएगाः मोदी

author image
11:27 am 31 Mar, 2016


प्रधानमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज साफ शब्दों में कहा कि अगर आतंकवाद को पारिभाषित नहीं किया गया तो संयुक्त राष्ट्र अप्रासंगिक हो जाएगा।

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत लंबे समय से आतंकवाद को झेलता रहा है, इसलिए वह बेल्जियम की पीड़ा समझ सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहाः

“पिछले आठ दिन बेल्जियम के लिए बेहद दुख भरे रहे हैं। दुख की इस घड़ी में पूरा भारत बेल्जियम के साथ खड़ा है। हमने इस तरह के कई हमले झेले हैं। आंतक से हर देश को नुकसान हो रहा है। भारत इससे पिछले 40 साल से लड़ रहा है।”

इससे पहले प्रधानमंंत्री ने ब्रसेल्स टेरर अटैक में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी।

गौरतलब है कि गत 22 मार्च को राजधानी ब्रसेल्स में हुए आतंकवादी हमलों में 5 लोगों की मौत हो गई थी। जान गंवाने वालों में एक भारतीय राघवेंद्र गणेशन भी शामिल हैं।


भारतीय समुदाय के पांच हजार से अधिक लोगों को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद को धर्म से जोड़ना सही नहीं है। धर्म कभी ऐसा करना नहीं सिखाता।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद बम और बंदूक से खत्म नहीं हो सकता, बल्कि इसके लिए समाज को जागरूक होना होगा। उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि इस समय अच्छे और बुरे आतंकवाद के बहस में उलझना चाहिए।

भारतीयों को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री ने केन्द्र सरकार द्वारा किए जा रहे विकासमूलक काम गिनाए।

उन्होंने कहा कि देश में सबसे अधिक दूध का उत्पादन वर्ष 2015 में हुआ है। यही नहीं, इसी साल सबसे अधिक कोयला व बिजली उत्पादन भी देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि उनकी एक गुजारिश पर देश के 90 लाख लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी। वह 5 करोड़ गरीब लोगों को गैस कनेक्शन मुहैया कराने पर विचार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर नीति स्पष्ट हो और दिशा सही हो तो भारत को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

नैनीताल में लगे टेलिस्कोप को ब्रसेल्स से किया शुरू

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एशिया के सबसे बड़े ऑप्टिकल टेलिस्कोप को टेक्निकली एक्टिवेट किया। नैनीताल के नजदीक देवस्थल में लगे इस टेलिस्कोप को भारत और बेल्जियम की एक कंपनी ने मिलकर बनाया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने तीन देशों की यात्रा के पहले पड़ाव के तहत बुधवार को बेल्जियम पहुंचे थे। यहां से वह अमेरिका और फिर सऊदी अरब जाएंगे। इस साल प्रधानमंत्री मोदी का यह पहला विदेश दौरा है। वह पिछले साल दिसंबर में रूस, अफगानिस्तान और पाकिस्तान की यात्रा पर गए थे।

Discussions



TY News