अब नजदीकी साफ-सुथरे शौचालय का पता बताएगा गूगल टॉयलेट लोकेटर

9:40 pm 18 Nov, 2016


शौचालय की समस्या सिर्फ़ ग्रामीण इलाक़ों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि साफ-सुथरा शौचालय खोजना शहरी नागरिकों के लिए भी बड़ी चुनौती होती है। अगर केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की हालिया योजना सुचारू रूप से सफल होती है, तो शहरवासियों की यह समस्या काफी हद तक कम हो सकती है।

खबरों के मुताबिक सर्च इंजन गूगल के सहयोग से केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय गूगल मैप पर टॉयलेट लोकेटर टूल की सुविधा शुरू करने जा रहा है।

15 से 30 नवंबर तक शौचालय दिवस थीम पर ‘स्वच्छता पखवाड़ा’ मना रहा मंत्रालय पहले इस प्रयोग को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में आजमाएगा।

एक अधिकारी के मुताबिक, इस टूल से सार्वजनिक और सुलभ शौचालयों के साथ-साथ मेट्रो स्टेशन, मॉल, पेट्रोल पंप और अस्पताल जैसी सार्वजनिक जगहों में स्थित शौचालयों को भी जोड़ा जा रहा है। एक अन्य अधिकारी के मुताबिक एनसीआर के ऐसे शौचालयों की सूची तैयार करने का काम लगभग पूरा हो चुका है और यह सेवा अब किसी भी दिन शुरू हो सकती है।

trak

trak

अधिकारियों के मुताबिक, गूगल मैप पर शौचालय उसी तरह काम करेगा जैसे सिनेमा या अस्पताल जैसी कोई दूसरी सुविधा खोजने के लिए की जाती है। इस सुविधा को बेहद सरल बनाया जा रहा है। अपने नज़दीकी शौचालय को खोजने के लिए यूजर को बस ऐप खोलकर सर्च बॉक्स में टॉयलेट, लैवेटरी, स्वच्छ, सुलभ या शौचालय में से कोई भी शब्द टाइप करना होगा।

शौचालय साफ-सुथरा और इस्तेमाल करने के लायक है या नहीं, इसका फीडबैक देने के लिए इस टूल में विकल्प भी उपलब्ध है। साथ में शौचालयों की रेटिंग करने की सुविधा भी मौजूद है। इसे कामयाब बनाने के लिए देश के सभी 2,041 शहरी स्थानीय निकायों को इसमें शामिल करने की योजना है। इसके लिए स्थानीय निकायों के कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

Discussions