इस कॉलेज ने जारी किया अजीब फरमान, लिपस्टिक सहित इन 13 चीजों पर प्रतिबंध

author image
10:56 am 7 Sep, 2016


कर्नाटक के मंगलोर का एक कॉलेज इन दिनों अपने अजीबोगरीब फरमान की वजह से चर्चा में है। स्थानीय सेंट एलॉयसिस प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज लिपस्टिक सहित 13 चीजों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यही नहीं, कॉलेज के नए नियम के मुताबिक, अब ब्रेक के दौरान लड़कियां दूसरे क्लास के लड़कों से नहीं बात कर सकतीं। वहीं, अकेली लड़की लड़कों के समूह में और अकेला लड़का, लड़कियों के समूह से बात नहीं करेगा। साथ ही उन्हें ड्रेस कोड का सख्ती से पालन करना होगा।

ये हैं अजीबोगरीब फरमानः

1. नेल आर्ट पर पूरी तरह रोक।

2. गाढ़े काजल या आंखों पर मेकअप की इजाजत नहीं।

3. लिपस्टिक पर प्रतिबंध

4. बैग में कॉस्मेटिक मिलने पर जब्ती।

5. शरीर पर टैटू मिलने से कार्रवाई।

6. हथेलियों पर मेहंदी के लिए लेनी होगी कॉलेज की इजाजत।

7. सिर्फ काले जूते-जूतियां।

8. बाल खुले रखने पर प्रतिबंध।

9. बाल नहीं रंग सकते।

10. ब्रेक के दौरान किसी लड़की के दूसरे क्लास के लड़कों से बात करने पर रोक।

11. अकेली लड़की, लड़कों के समूह से या अकेला लड़का, लड़कियों के समूह से बात नहीं करेगा।

12. पब और पार्टियों में जाने पर पूरी तरह रोक।

13. लंच के लिए कैम्पस से बाहर नहीं जा सकती लड़कियां।

ytimg

ytimg


बताया गया है कि इन नियमों को तोड़ने पर छात्रों से 500 रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। ऐसा होने की स्थिति में छात्र को कॉलेज प्रशासन को माफीनामा भी देना होगा। दूसरी बार नियम तोड़ने की स्थिति में जुर्माने की राशि 1 हजार रुपए होगी। तीसरी बार नियम तोड़ने की स्थिति में कॉलेज से निकाला जा सकता है।

ब्लॉग और संवाद माध्यमों में इस फरमान के वायरल होने के बाद कॉलेज प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि इसका उद्देश्य यह है कि छात्र-छात्राओं का ध्यान पढ़ाई में लगा रहे और साथ ही नैतिकता बनी रहे।

कॉलेज प्रशासन का दावा है कि छात्र तथा छात्राओं के बीच भेदभाव पैदा करने का कोई प्रयास नहीं किया गया है, बल्कि छात्रों के अभिभावक भी इन नियमों से खुश हैं। हालांकि, कॉलेज प्रशासन खुले तौर पर ऐसा कहने से बच रहा है। कॉलेज प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि आधिकारिक तौर पर इस तरह का कोई फरमान जारी नहीं किया गया है।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News