मलेशिया की एक यूनिवर्सिटी ने हिंदुओं को बताया ‘गंदा’ और ‘अस्वच्छ’

author image
5:55 pm 15 Jun, 2016


मलेशिया के एक प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय ने भारत में रहने वाले हिंदुओं को गंदा और अस्वच्छ बताया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, एक नामी यूनिवर्सिटी ने अपने एक शैक्षणित मॉड्यूल में भारत में हिंदुओं को ‘अस्वच्छ’ एवं ‘गंदे’ के रूप में पेश किया है। इस वजह से इस मुस्लिम बहुल देश में अल्पसंख्यक हिन्‍दुओं में नाराजगी है।

यूनिवर्सिटी टेक्‍नोलोजी मलेशिया (UTM) की ओर से ऑनलान पोस्‍ट किए गए एक मॉड्यूल की कुछ स्‍लाइड्स के बाद यह विवाद खड़ा हुआ है। इन स्‍लाइड्स में कहा गया है कि हिन्‍दू शरीर पर धूल लगाने को निर्वाण प्राप्‍त करने की धार्मिक विधि का हिस्‍सा मानते हैं।

UTM Module

themalaymailonline


UTM यूनिवर्सिटी के टीचिंग मॉड्यूल में हिंदुओं को गंदा बताते हुए कहा गया है कि वे मोक्ष के लिए अपने शरीर में गंदगी लगाए रहते हैं। यूनिवर्सिटी ने अपने नए टीचिंग मॉड्यूल में यह बातें लिखीं हैं और इसे ऑनलाइन पोस्ट किया है।

भारतीय मूल के मलेशिया के उपशिक्षा मंत्री पी कमलनाथन द्वारा इस मामले को उठाए जाने के बाद विश्वविद्यालय ने कहा है कि वह इस मोड्यूल की फिर से समीक्षा करेगी। पी कमलनाथन ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा ‘”मैंने UTM के कुलपति से बात की है और उन्होंने इस भूल को स्वीकार कर लिया है।”

मुस्लिम बहुल देश मलेशिया की 2.8 करोड़ की कुल आबादी में 60 फीसदी मलय हैं, जो पूरी तरह मुसलमान हैं। 25 फीसदी चीनी हैं, जो ईसाई और बौद्ध हैं। 8 फीसदी भारतीय हैं, जिनमें ज्यादातर हिंदू हैं।

Discussions



TY News