अप्रतिम सौन्दर्य की मलिका मधुबाला के बारे में ये 18 तथ्य आप शायद ही जानते होंगे

11:04 am 20 Apr, 2016

मधुबाला भारतीय सिनेमा की सबसे प्रिय अदाकाराओं में एक रही हैं। उनकी निजी ज़िन्दगी भी पर्दे की मधुबाला से कम दिलचस्प नहीं थी। वही अनिश्चितता, ड्रामा और अधूरी प्रेम कहानी- जिसके किरदारों को अनगिनत बार उन्होंने फिल्मों के माध्यम से जीवंत किया था।

उन्हें मात्र सुंदर कहना उचित नहीं होगा। अद्वितीय सौन्दर्य और अदाकारी से ही तो उन्होंने सैकड़ों दिलों पर राज किया था, लेकिन उनका अंतिम समय बेहद ही दुखद था।

1. परिवार की आमदनी बढ़ाने के लिए किया बॉलीवुड में प्रवेश

उनका असली नाम मुमताज़ था। पिता की बेरोज़गारी के चलते मात्र 9 वर्ष की छोटी आयु में उन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री में कदम रखा। वह परिवार में पांच बच्चों में से एक थीं। ऐसे मुश्किल वक़्त में मधुबाला की आय ने परिवार को सहारा दिया। 14 वर्ष की उम्र में मधुबाला मशहूर अभिनेता राज कपूर के साथ ‘नील कमल’ (वर्ष 1947) में मुख्य भूमिका में दिखाई दी थी।

2. मुमताज़ से मधुबाला

‘नील-कमल’ की सफलता के बाद ‘हिन्दी’ सिनेमा जगत में पहचान बनाने के लिए इस उभरती अदाकारा का नाम बदलकर मधुबाला रख दिया गया। निर्देशक किदार शर्मा का कहना था कि शुरुआती समय से ही वे बेहद प्रोफेशनल थी। वह एक मशीन की तरह बड़ी तत्परता से काम में लगी रहती थी। भले ही उन्हें खाना छोड़ना पड़े या तीसरी श्रेणी में सफ़र करना पड़े, मधुबाला हमेशा समय पर पहुंचती थीं।

3. अंग्रेज़ी सीखने की ललक

छोटी आयु में ही काम के बोझ के कारण मधुबाला को स्कूल जाने का मौका नहीं मिला। लेकिन इस मज़बूत इरादों वाली शख़्सियत ने 17 वर्ष की आयु तक धाराप्रवाह अंग्रेज़ी सीख ली थी।

4. अद्वितीय सौन्दर्य और प्रसिद्धि के चर्चे भारत ही नहीं पूरे विश्व में थे

‘थियेटर आर्ट्स’ अमेरिकी मासिक पत्र ने तो मधुबाला को ‘दुनिया का सबसे बड़ा सितारा’ ही कह डाला था, जबकि अपने पूरे जीवन में मधुबाला ने कभी कैलिफोर्निया के ‘बेवरली हिल्स’ में कदम भी नहीं रखा।

5. 15 फिल्में रहीं बॉक्स ऑफिस पर हिट

मधुबाला ने अपने जीवनकाल में 70 फिल्मों में काम किया था, जिनमें 15 सुपरहिट रहीं थीं। मधुबाला की एक झलक पाने के लिए उनके प्रशंसकों की कतार लगी रहती थी।

6. दिलीप कुमार के साथ संबंधों के कारण चर्चा

उनके सह-कलाकारों के साथ संबंध चर्चा में रहे थे, लेकिन ‘ट्रैजडी किंग’ दिलीप कुमार के साथ उनके संबंध ने काफ़ी ध्यान आकर्षित किया। दोनों की मुलाकात ‘ज्वारभाटा’ के सेट पर हुई और इकरार-ए-मोहब्बत ‘तराना’ की शूटिंग के दौरान।

7. मधुबाला-दिलीप कुमार के ब्रेक-अप का कारण बने पिता

मधुबाला कभी अपने पिता की इच्छा के विरुद्ध नहीं गईं। कहा जाता है कि दिलीप कुमार के साथ उनके संबंध में खटास उनके पिता की नाराज़गी के बाद ही आई थी।

8. मधुबाला के पिता दिलीप कुमार को कोर्ट तक ले गए


दिलीप कुमार के साथ संबंध टूटने के कारण मधुबाला को गहरा आघात हुआ था। जब उनके पिता को अपनी गलती का एहसास हुआ, तो वे दिलीप कुमार को शादी से बचने के आरोप में कोर्ट तक घसीट लाए थे। कोर्ट-रूम में दिलीप कुमार ने सबके सामने कहा था- “मैं उसके मरने तक उसे हमेशा प्यार करूंगा”।

9. ‘मुगले आज़म’ की शूटिंग के समय मधुबाला-दिलीप कुमार के बीच कोई संबंध नहीं रहा था

ब्लॉक-बस्टर फिल्म ‘मुगले आज़म’ में मधुबाला और दिलीप-कुमार की पेशेवर अदाकारी और भाव-विभोर प्रेम-दृश्यों को देखकर यह कह पाना मुश्किल है कि उस समय तक दोनों के बीच असल ज़िन्दगी में कोई भी संबंध बाकी नहीं रहा था।

10. कम आयु में मृत्यु

मरलिन मुनरो, प्रिंसिस डायना, बॉब मारले और मधुबाला, सभी का देहांत 36 वर्ष की छोटी उम्र में हो गया था।

11. पिता की जरूरत से ज्यादा पाबंदी ने मधुबाला का जीवन ही उजाड़ दिया

प्यार की तलाश और उसे पाने की आस में मधुबाला एक के बाद एक विनाशकारी संबंधों का शिकार बनती चली गईं। मधुबाला के पिता रोजाना फिल्म सेट पर उनके साथ जाते थे। दिनभर के परिश्रम के बाद सीधे वापस घर जाना ही, उनकी दिनचर्या थी। उन्हें अनजान लोगों से अधिक मेल-जोल बढ़ाने नहीं दिया जाता था। घर पर भी मिलने आने वालों पर कड़ी निगरानी रखी जाती थी।

12. दिलीप कुमार के साथ विवाह का सपना टूटा, किशोर कुमार के साथ रचाया विवाह

दिलीप कुमार के साथ संबंध और विवाह का सपना टूटने से परेशान हो कर, जल्दबाज़ी में उन्होंने किशोर कुमार के साथ विवाह कर लिया जो पहले से ही दो बार तलाकशुदा थे।

13. मधुबाला को कपड़ों और गहनों पर पैसा बरबाद करना पसंद नहीं था। वह छोटी-छोटी चीज़ों से ही प्रसन्न हो जातीं थीं।

14. आराम का पर्याय लंबी यात्रा पर जाना

उन्होंने गाड़ी चलाना 12 वर्ष की आयु में ही सीख लिया था। उन्हें जब समय मिलता, तब वह लॉन्ग-ड्राइव पर निकल पड़तीं थी।

15. आखिरी फिल्म ‘चालाक’ अभिनेता राज कपूर के साथ अधूरी ही रह गई थी

मधुबाला की बढ़ती बीमारी के कारण फिल्म को बीच में ही रोक देना पड़ा, लेकिन उनकी हालत में कभी सुधार ही नहीं आया। इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान ही इस अद्वितीय सुंदरी ने सिनेमा के लिए आखिरी बार श्रृंगार किया था।

16. दिल की बीमारी

इलाज के लिए जब वह लंदन पहुंचीं, तो डॉक्टरों ने यह कहकर सर्जरी करने से इन्कार कर दिया कि उनके जीवन का मात्र एक वर्ष शेष है, लेकिन मज़बूत इरादों वाली यह अदाकारा 9 और वर्षों तक हिन्दी सिनेमा के दर्शकों का मनोरंजन करती रही थी।

17. फिल्म निर्देशित करने की चाह

गंभीर रूप से बीमार रहने के बावजूद उन्होंने ‘फ़र्ज़ और इश्क’ नामक फ़िल्म का निर्देशन करने की पूरी तैयारी कर ली थी, लेकिन दुर्भाग्यवश यह फ़िल्म कभी सिनेमा-घरों तक नहीं पहुंच सकी और मधुबाला इस दुनिया को अलविदा कह गई।

18. 18 कुत्तों की थीं मालकिन

अगर वर्ष 1959 में आपको उनके घर जाने का मौका मिलता, तो आप खुद को 18 कुत्तों के बीच घिरा पाते।

Discussions



TY News