सबको सबकुछ नहीं मिलता, फिर भी यह जिन्दगी बेहद खूबसूरत है, जानिए कैसे

11:54 am 4 May, 2016

जब भी आप एकांत में बैठते हैं, तो अक्सर आपका मन यह सोचकर मायूस हो जाता है कि आपके आसपास के लोग कितने खुश हैं और आप कितने दुःखी। लेकिन आपको शायद यह नहीं मालूम कि उन लोगों की हंसी में कितने गम छिपे हुए हैं। हर व्यक्ति के जीवन में कुछ न कुछ ऐसी बात होती है, जिसकी वजह से वह खुद को दुःखी और बेसहारा महसूस करता है।

इन मजबूरियों के कारण हम अपने आप को कमजोर समझ बैठते हैं। पर यदि हम इसी कमज़ोरी को अपनी ताकत बनाने की ठान लें, तो दुनिया हमारे क़दमों में होगी।

हम आपको 9 ऐसे कारण बताने जा रहे हैं, जिनसे आप समझ जाएंगे कि क्यों हर किसी को सब कुछ नहीं मिल सकता, इसके बावजूद जिन्दगी बहुत खूबसूरत है।

1. हम सब एक ही परिवार की तरह हैं।

हर कोई किसी न किसी संघर्ष में लगा हुआ है। चाहे वह अपने आप को गम की हालात में खुश रखने का संघर्ष हो, या जो हासिल नहीं हुआ उसके अफसोस के साथ जीने का संघर्ष या अपनी बेचारगी और मजबूरी को छिपाने का संघर्ष हो। किसी की किस्मत में भी जिन्दगी बिना मुश्किलों और परेशानियों के नहीं है। पर इस सबके बावजूद सबसे अच्छी बात यह है कि हम सब एक ही परिवार की तरह एक-दूसरे से किसी न किसी प्रकार जुड़े हैं।

2. अगर आपके पास सब कुछ होता तो आप कभी भी यह नहीं समझ पाते कि पीड़ा किसे कहते हैं।

तकलीफ तब होती है, जब किस्मत हमसे वह छीन लेती है, जिसे हम हमेशा से पाना चाहते थे। पर यही दर्द हमारी ज़िन्दगी में बदलाव लाने का कारण भी बन जाता है और हम उन चीज़ों पर अपना ध्यान लगाने लग जाते हैं, जिन्हें हम नियंत्रित कर सकते हैं। जो हालात ईश्वर ने आपको दिए हैं, उनको अपनी ताकत बनाने की कोशिश में लग जाइए।

3. कोई भी ऐसा नहीं है, जिसके साथ सब कुछ बेहतरीन हो, यहां तक कि देवताओं की जिन्दगी भी परिपूर्ण नहीं थी।

कोई भी व्यक्ति इस संसार में ऐसा नहीं है, जो हमेशा खुशियां मनाता रहे। हम इंसान हैं, कोई ईश्वर नहीं। पर हमें यह भी पता होना चाहिए की देवताओं का जीवन भी कठिनाइयों और परेशानियों से भरा रहा था।

4. हम सब एक सामान इसलिए हैं, क्योंकि हमारे जीवन में कभी न कभी ऐसा वक़्त जरूर आता है, जिसमें हमें किसी न किसी चीज की कमी महसूस होती है।

अपने करीबी रिश्तेदारों के बारे में सोचिए कि क्या कभी भी ऐसा हुआ है कि सब के सब एक साथ एक ही समय में खुश रहे हों। आप इसी निष्कर्ष पर पहुंचेंगे कि ऐसा कोई लम्हा नहीं है और शायद कभी होगा भी नहीं।

5. इस सृष्टि का संतुलन हमारे असंतुलन के कारण ही बना हुआ है।

इस सृष्टि में संतुलन इसलिए है, क्योंकि हमारी परेशानियां कहीं न कहीं एक दूसरे से जुडी हुई हैं। अगर तुम्हारे दोस्त ने कोई परेशानी न झेली होती और वह एक श्रेष्ट जीवन जी रहा होता, तो क्या वो तुम्हारे संघर्ष को समझ पाता ?

6. इस जिन्दगी का मजा इन्हीं संघर्षों के साथ है। ये जीवन भी बिलकुल नीरस हो जाएगा, अगर हमें सब कुछ यूं ही आसानी से मिल जाए।


जरा सोचिए कि क्या आप उदय चोपड़ा जैसी जिन्दगी जीना पसंद करेंगे, जिसमें न कोई संघर्ष हो न ही कुछ हासिल करने की चाहत हो। क्या आप चाहते हैं कि आप की जिन्दगी केवल ट्विटर तक ही सीमित रहे?

आज के समय में लोग उसी का सम्मान करते हैं, जो अपनी मेहनत और लगन से वह मुकाम हासिल कर लेते हैं, जिसकी उनसे कभी उम्मीद नहीं होती। बाकी लोगों के लिए गूगल पर आपको मीम मिल जाएंगे।

7. वास्तविकता को अपनाना एक बहुत मुश्किल काम हैं।

एक बालक के लिए यह बहुत पीड़ादायक होता है, जब वो यह देखता है कि वो स्वयं तो फुटपाथ पर भीख मांग रहा है और एक दूसरा बालक मर्सिडीज़ गाड़ी में बैठा हुआ जा रहा है। वह सोचता है कि उसने ऐसा क्या गलत किया है, पर उसे कोई जवाब नहीं मिलता। ‘सब नसीब का खेल है’।

फिर अचानक से वह एक अखबार में छपा हुआ ये सन्देश पढ़ता है “अपनी जिन्दगी में केवल ख्वाब ही मत देखो, उनको पाने के लिए संघर्ष भी करो।”

8. जिन्दगी के प्रति हमें हमेशा शुक्रगुजार रहना चाहिए।

हमारी जिन्दगी बहुत अनमोल है। इसके लिए हमें हमेशा दिल की ख़ुशी के साथ शुक्रिया करते रहना चाहिए।

हमने इस जिन्दगी को कितने करीब से समझा है, इससे फर्क नहीं पड़ता, ज्यादा जरूरी यह है कि हम इस खूबसूरत ज़िन्दगी के लिए अपने रब का शुक्र करते रहें। इससे न केवल अहंकार दूर होगा, बल्कि हम अपनी अंतरात्मा के और करीब हो जाएंगे।

9. हम एक-दूसरे की अहमियत को तभी समझ सकते हैं, जब हम अपने को दूसरे के स्थान पर महसूस करें।

यदि आप अपने आप से और जो आपके पास है, उससे संतुष्ट रहना चाहते हैं तो उस व्यक्ति के जीवन के बारे में सोचिए जिसके पास कुछ नहीं है। सबसे अधिक मायने यह रखता है कि जो कुछ आपको मिला है, उसके साथ आपने जीवन किस तरह जिया है।

अफसोस और दुःखी होने से जीवन नहीं बदल सकता, इसीलिए हमें अपने हर पल में खुशी खोजना चाहिए।

अंत में मुझे कल हो न हो फिल्म के मशहूर गाने के बोल याद आते हैं।

” हर घड़ी बदल रही है धूप जिन्दगी,
छांव है कहीं, कहीं है धूप जिन्दगी,
हर पल यहां जी भर जियो,
जो है समां, कल हो न हो।”

Discussions



TY News