यूरोप के इस देश में सिर्फ तीन महिलाएं पहनती हैं बुर्का, फिर भी लगेगा प्रतिबंध

3:55 pm 21 Apr, 2016


पूर्वी यूरोप के देश लाटविया में आधिकारिक रूप से सिर्फ तीन महिलाएं ही हिजाब तथा बुर्का पहनती हैं, इसके बावजूद यहां का प्रशासन इस पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है। इस देश में सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं को बुर्का पहनकर जाने की छूट नहीं होगी।

इस बाल्टिक देश की आबादी करीब 20 लाख है। मुस्लिमों की संख्या 1 हजार से भी कम है।

लंदन से प्रकाशित अखबार डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, देश के कानून मंत्रालय ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि हिजाब और बुर्के पर प्रतिबंध का उद्देश्य यहां की स्थानीय संस्कृति की रक्षा करना है। यहां की सरकार ने उम्मीद जताई है कि इराक और सीरिया से बड़ी संख्या में पहुंचे शरणार्थी देश के कानून और परम्पराओं का सम्मान करेंगे।

लाटविया के कानून मंत्री जिन्टर्स रैसेक्स ने न्यूयार्क टाइम्स से बातचीत में कहाः

“हम न सिर्फ लाटविया की संस्कृति और ऐतिहासिक मूल्यों की रक्षा कर रहे हैं, बल्कि यूरोप के इतिहास और सांस्कृतिक मूल्यों की रक्षा भी कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि यहां आने वाले शरणार्थी यहां के नियम-कानून का सम्मान करें।”


गौरतलब है कि इराक और सीरिया से बड़ी संख्या में मुस्लिम शरणार्थी यूरोप के इस देश में पहुंचे हैं। यही वजह है कि यहां की सरकार स्थानीय संस्कृति की रक्षा के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है।

इससे पहले वर्ष 2011 में फ्रान्स ने सार्वजनिक स्थानों पर हिजाब और बु्र्का पहनकर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

यही नहीं, कुछ दिन पहले ही फ्रान्स के प्रधानमंत्री मैनुअल वॉल्स ने कहा था कि उनकी सरकार विश्वविद्यालयों में मुस्लिम छात्रों द्वारा हेडस्कार्व्स पहनकर आने पर भी पाबंदी लगाने पर विचार कर रही है।

Popular on the Web

Discussions